खूंखार आतंकी संगठन ISIS को रौंदने की रणनीति तैयार करने के लिए ओबामा करेंगे राष्ट्र को संबोधित

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस को हराने के लिए अपनी प्रतिबद्धता और कार्रवाई को दोहराने के लिए आज रात देश को संबोधित करेंगे। आईएसआईएस ने इस सप्ताह सन बर्नार्डिनो में हुई गोलीबारी के पीछे अपना हाथ होने का दावा किया है। इस गोलीबारी में 14 लोग मारे गए थे।

खूंखार आतंकी संगठन ISIS को रौंदने की रणनीति तैयार करने के लिए ओबामा करेंगे राष्ट्र को संबोधित

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस को हराने के लिए अपनी प्रतिबद्धता और कार्रवाई को दोहराने के लिए आज रात देश को संबोधित करेंगे। आईएसआईएस ने इस सप्ताह सन बर्नार्डिनो में हुई गोलीबारी के पीछे अपना हाथ होने का दावा किया है। इस गोलीबारी में 14 लोग मारे गए थे।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नस्ट ने कहा, रविवार, छह दिसंबर को रात आठ बजे (भारतीय समयानुसार सोमवार, सात दिसंबर) राष्ट्रपति ओबामा ओवल ऑफिस से देश को संबोधित करेंगे और बताएंगे कि हमारी सरकार द्वारा इसकी सबसे बड़ी प्राथमिकता को पूरा करने के लिए यानी अमेरिकी जनता को सुरक्षित रखने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं। बीती रात जारी बयान में अर्नस्ट ने कहा कि राष्ट्रपति सन बर्नार्डिनो में घटी त्रासद घटना की जारी जांच से जुड़ी एक जानकारी देंगे। इस हमले को एक चरमपंथी दंपति- ताशफीन मलिक और सैयद रिजवान फारूक ने अंजाम दिया था।

फारूक पाकिस्तानी मूल का अमेरिकी नागरिक था जबकि ताशफीन एक पाकिस्तानी नागरिक थी। बुधवार को इन्होंने गोलीबारी कर 14 लोगों की हत्या कर दी थी और 17 अन्य को घायल कर दिया था। इसके बाद पुलिस और इन दोनों के बीच हुई गोलीबारी में इन्हें मार गिराया गया था। अर्नस्ट ने कहा कि ओवल ऑफिस से दिए जाने वाले इस दुर्लभ संबोधन में अमेरिकी राष्ट्रपति इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया या आईएसआईएस के अलावा आतंकवाद के व्यापक खतरे पर भी चर्चा करेंगे जिसमें इस खतरे की प्रकृति, इसके विकास और इसे हराने की अमेरिकी रणनीति पर चर्चा होगी।

अर्नस्ट ने कहा, वह अपने इस दृढ़ निश्चय को दोहराएंगे कि आईएसआईएस को खत्म किया जाएगा और विध्वंसक विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए हिंसा का इस्तेमाल करने वाले इन आतंकी समूहों पर काबू पाने के लिए अमेरिका को न्याय, समानता और स्वतंत्रता के अपने मूल्यों की मदद लेनी चाहिए। इससे पहले आज दिन में ओबामा ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा दल के साथ मौजूदा स्थिति के बारे में बैठक की। इस बैठक के दौरान उन्हें एफबीआई निदेशक, अटॉर्नी जनरल, गृहसुरक्षा मंत्री और खुफिया समुदाय के नेतृत्व से कैलिफोर्निया के सन बर्नार्डिनो में हुई भयावह गोलीबारी की जारी जांच के बारे में नवीनतम जानकारी मिली। अधिकारियों ने ऐसी कई सूचनाएं दीं, जो यह इशारा करती हैं कि साजिशकर्ता इन घृणित हमलों को अंजाम देने के लिए चरमपंथ से प्रभावित थे।

व्हाइट हाउस ने कहा, राष्ट्रपति के दल ने यह भी कहा कि अभी तक उन्हें ऐसा कोई संकेत नहीं मिला है, जो बता सके कि हत्यारे किसी संगठित समूह का हिस्सा थे या किसी व्यापक आतंकी सेल से जु़ड़े लोग। ओबामा ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद से भी सन बर्नार्डिनो की भयावह गोलीबारी के बारे में बात की। व्हाइट हाउस ने कहा, राष्ट्रपति ओबामा ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति ओलांद को बताया कि हमले के बारे में हम क्या जानते हैं और जांच के लिए हमारी खुफिया एवं कानून प्रवर्तन एजेंसियां क्या कदम उठा रही हैं। इस फोन कॉल से जुड़ी विज्ञप्ति में कहा गया, दोनों नेताओं ने देश के भीतर और बाहर आतंकवाद से लड़ने के लिए दोनों सरकारों के बीच और हमारे सहयोगियों एवं मित्रों के साथ सतत सहयोग करने का संकल्प किया। दोनों नेताओं ने पेरिस में आयोजित जलवायु सम्मेलन सीओपी21 में हो रही प्रगति पर भी चर्चा की। वे सम्मेलन जारी रहने तक संपर्क में बने रहने पर राजी हुए।