close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान: तालिबान आतंकियों के विस्फोट में 6 पुलिस की मौत, 24 घायल

पुलिस का एक वाहन 35 पुलिसकर्मियों को लेकर क्वेटा सिब्बी रोड पर सरियाब मिल इलाके से गुजर रहा था, उसी दौरान यह विस्फोट हुआ.

पाकिस्तान: तालिबान आतंकियों के विस्फोट में 6 पुलिस की मौत, 24 घायल
35 पुलिसकर्मियों को लेकर क्वेटा सिब्बी रोड पर सरियाब मिल इलाके से गुजरने के दौरान विस्फोट हुआ. (IANS/18 Oct, 2017)

कराची: पाकिस्तान में अशांत बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में बुधवार (18 अक्टूबर) को पुलिस वाहन को निशाना बनाकर आतंकवादियों द्वारा किये गये बम हमले में कम से कम छह पुलिसकर्मी मारे गए. सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि पुलिस का एक वाहन 35 पुलिसकर्मियों को लेकर क्वेटा सिब्बी रोड पर सरियाब मिल इलाके से गुजर रहा था, उसी दौरान यह विस्फोट हुआ. बलूचिस्तान के गृहमंत्री मीर सरफराज बुग्ती ने बताया कि इस आतंकवादी हमले में छह पुलिसकर्मी मारे गये. इस हमले में पुलिसकर्मियों को ले जा रहे एक ट्रक को निशाना बनाया गया.

बुग्ती ने कहा, ‘‘लाहौर से एक फॉरेंसिक टीम पहुंच रही है और वह यह तय करेगी कि यह आत्मघाती बम हमला था या फिर वाहन के बिल्कुल करीब विस्फोटकों में धमाका किया गया था.’’ उन्होंने बताया कि इस हमले में एक नागरिक समेत सात लोग मारे गये. चौबीस अन्य को इलाज के लिए क्वेटा के सिविल अस्पताल में ले जाया गया है. गृहमंत्री ने कहा, ‘‘आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं हुई है. इस लड़ाई में बलूचिस्तान आगे है. जब तक इलाके में एक भी आतंकवादी है, तब तक हम नहीं रुकेंगे.’’ उन्होंने बताया कि सुरक्षाबल मौके पर पहुंच गये हैं और इलाके को घेर लिया है.

इस बीच तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी रज्जाक चीमा ने कहा कि संभवत: विस्फोटकों से भरी एक कार ने ट्रक में पीछे से टक्कर मारी. चीमा ने कहा, ‘‘ऐसा जान पड़ता है कि इस हमले में 80 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया.’’ 

तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान का वरिष्ठ कमांडर ढेर

वहीं दूसरी ओर तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान का एक वरिष्ठ कमांडर मारा गया है. समझा जाता है कि पेशावर के एक स्कूल में साल 2014 में हुए नरसंहार का वह सरगना था. तालिबान के प्रवक्ता मुहम्मद खुरासानी ने ईमेल के जरिए पत्रकारों को भेजे एक बयान में कहा, ‘हम खलीफा उमर मंसूर के मारे जाने की पुष्टि करते हैं.’ डॉन अखबार ने बयान के हवाले से कहा है कि दारा आदम खेल और पेशावर में उस्मान मंसूर हफीजुल्ला अब ग्रुप कमांडर होगा. हालांकि, मंसूर की मौत की खबर 2016 में भी आई थी, लेकिन उसकी पुष्टि नहीं हो पाई थी. उमर मंसूर ने 2016 में बाशा खान यूनीवर्सिटी पर हुए एक घातक हमले की जिम्मेदारी ली थी. पेशावर में आर्मी पब्लिक स्कूल में 2014 में हुए नरसंहार का वह सरगना था, जिसमें कम से कम 144 लोग मारे गए थे और उनमें ज्यादातर बच्चे थे.