जेनेवा रिफ्यूजी फोरम का सह-संयोजक बना पाकिस्तान, नुमाइंदगी करेंगे इमरान खान

पाकिस्तान के अलावा, तुर्की, जर्मनी, इथियोपिया और कोस्टा रिका द्वारा भी सह-संयोजक के रूप में इसे संचालित किया जाएगा.

जेनेवा रिफ्यूजी फोरम का सह-संयोजक बना पाकिस्तान, नुमाइंदगी करेंगे इमरान खान
फाइल फोटो

इस्लामाबाद: पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) 17-18 दिसंबर तक जेनेवा में आयोजित होने वाले पहले ग्लोबल रिफ्यूजी फोरम में सह-संयोजक के रूप में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करेंगे. द न्यूज इंटरनेशनल के मुताबिक, 'यूएन हाई कमिश्नर फॉर रिफ्यूजी' (यूएनएचसीआर) और स्विट्जरलैंड (Switzerland) सरकार संयुक्त रूप से जीआरएफ की मेजबानी करेंगे जो 21वीं सदी के शरणार्थियों पर पहली बड़ी बैठक है.

LIVE TV...

पाकिस्तान में यूएनएचसीआर के प्रवक्ता कैसर खान अफरीदी ने द न्यूज इंटरनेशनल को बताया कि जर्मनी, तुर्की, इथियोपिया और कोस्टा रिका के साथ-साथ शरणार्थियों पर वल्र्ट मीटिंग के सह-संयोजक के रूप में पाकिस्तान (Pakistan) के लिए ठोस प्रतिज्ञाओं को उत्पन्न करने में मदद करने का एक अनूठा अवसर होगा और शरणार्थियों जीवन में एक ठोस और दीर्घकालिक बदलाव लाने में योगदान होगा.

उन्होंने कहा कि यूएनएचसीआर और पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान (Iran) की सरकारें भी अफगान शरणार्थियों के स्थायी समाधान के लिए अंतर्राष्ट्रीय एकजुटता को मजबूत करने के लिए एक समर्थन मंच शुरू करेंगी.यूएनएचसीआर के अनुसार, पाकिस्तान 14 लाख से से अधिक पंजीकृत अफगानों को शरण देता है, जिन्हें अपने घरों से पलायन करने के लिए मजबूर किया गया है. पाकिस्तान के अलावा, तुर्की (Turkey), जर्मनी (Germany), इथियोपिया और कोस्टा रिका द्वारा भी सह-संयोजक के रूप में इसे संचालित किया जाएगा.

(इनपुट: एजेंसी आईएएनएस)