पाकिस्तान : कोयला खदान में मिथेन गैस की वजह से विस्फोट, 9 लोगों की मौत

  पाकिस्तान के खैबर पख्तूनवा प्रान्त में कोयला खदान में हुयी दुर्घटना ,9 मजदूरों ने जान गंवाई.. हर साल इस तरह की घटनाओं में पाकिस्तान में 100 के करीब मजदूर गंवा देते हैं जान 

पाकिस्तान : कोयला खदान में मिथेन गैस की वजह से विस्फोट, 9 लोगों की मौत
प्रतीकात्मक तस्वीर

पेशावर: पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में कोयले की एक खदान में बुधवार को मिथेन गैस की वजह से विस्फोट हो गया, जिसमें नौ खनिकों की मौत हो गई जबकि तीन लोग अब भी मलबे में फंसे हुए हैं. पुलिस ने बताया कि यह हादसा कोहाट जिले के डेरा आदम खेल शहर के अखोरवाल इलाके में हुआ. पुलिस के मुताबिक, नौ मजदूरों के शवों को निकाल लिया गया है जबकि कोयला खदान में फंसे अन्य तीन खनिकों को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अबतक तीन खनिक जख्मी भी हुए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

हर साल होते हैं ऐसी घटनाओं के शिकार 
पाकिस्तान में खनन का काम खतरनाक माना जाता है और वहां हर साल दर्जनों खनिकों की मौत होती है, क्योंकि वहां आधुनिक खनन सुविधाओं का अभाव है.पाकिस्तान के कोयले खदानों का एक स्याह पहलु भी हैं. वहां काम कर रहे हजारों मजदुर अपने जीवन को इन खदानों में बिना जरुरी सुरक्षा उपकरण और खतरनाक परिस्थितियों में अपने जीवन को जोखिम में डालते हैं. "द नेशन" में छपी एक रिपोर्ट में बताया गया हैं कि हर साल 100 के करीब ,मजदूर इन खदानों में काम करने के दौरान अपनी जान गंवा देते हैं. पाकिस्तान के राजनैतिक दल इन मामलो में चुप्पी साध लेते हैं. 

कानूनों का नहीं होता है पालन
पाकिस्तान में वर्तमान में सशक्त आतंरिक मजदूर अधिकारों से सम्बंधित कानून होने की बात बताई जा रही हैं. वो मजदूर अधिकारों से सम्बंधित अनेक कानून और अंतरराष्ट्रीय से भी बंधा हुआ हैं. बावजूद इसके अभी भी लगातार ऐसी घटनाओ से साफ़ पता चलता हैं की ऐसी घटनाओं के बाद भी हुक्मरानो की नींद नहीं खुल रही हैं.

(इनपुट भाषा से)