Breaking News

VIDEO: जब वोट डालने निकला आतंकी सरगना हाफिज सईद, लोग रोककर चूमने लगे हाथ

वोट डालने के बाद जब हाफिज सईद बाहर निकला तो एक शख्स ने समर्थकों की भीड़ से हटकर उसका हाथ पकड़ा और चूम लिया. 

VIDEO: जब वोट डालने निकला आतंकी सरगना हाफिज सईद, लोग रोककर चूमने लगे हाथ
फोटो साभार : ANI

नई दिल्ली : पाकिस्तान में बुधवार को नेशनल असेंबली और प्रांतों के लिए मतदान हो रहे हैं. सुबह 8 बजे से शुरू हुई यह वोटिंग शाम 6 बजे तक जारी रहेगी. आतंक के साये में हो रही वोटिंग में ज्यादा से ज्यादा राजनेता मतदान करने के लिए पहुंच रहे हैं. नवाज शरीफ के भाई शहबाज शरीफ, बेनजीर भुट्टो की बेटियों समेत कई राजनेताओं ने भी अपने हक का प्रयोग किया. 

मुंबई आतंकी हमले का मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के मुखिया हाफिज़ सईद ने भी मतदान में हिस्सा लिया है. हाफिज ने लाहौर के एक बूथ पर जाकर अपना वोट डाला. जिस वक्त हाफिज सईद मतदान केंद्र पहुंचा, उस वक्त भारी संख्या में उसके समर्थक भी वहां पर मौजूद थे. वोट डालने के बाद जब हाफिज सईद बाहर निकला तो एक शख्स ने समर्थकों की भीड़ से हटकर उसका हाथ पकड़ा और चूम लिया. आप भी देखिए कैसे बिना किसी खौफ के हाफिज सईद लाहौर के पोलिंग बूथ पर पहुंचा...

 

 

हाफिज की पार्टी लड़ रही है चुनाव
बता दें कि पाकिस्तान चुनाव आयोग की कोशिशों के बाद भी हाफिज सईद की पार्टी अल्लाह-ओ-अकबर तहरीक (एएटी) ने चुनावों में अपने उम्मीदवारों को उतारा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन चुनावों में हाफिज की पार्टी ने लगभग 256 उम्मीदवारों को उतारा है. खास बात ये है कि इन चुनावों में बेशक से हाफिज सईद प्रत्यक्ष तौर न खड़ा हुआ, लेकिन उसका बेटा सईद और दामाद खालिद वलीद खुद भी चुनाव लड़ रहे हैं.

क्वेटा में हुआ विस्फोट
पाकिस्तान में नई सरकार के चुनाव के लिए हो रहे मतदान के बीच बुधवार को बलूचिस्तान में एक मतदान केंद्र के पास एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को बम से उड़ा लिया. इस घटना में 30 लोग मारे गए. जियो न्यूज के मुताबिक, इस हमले ने पूर्वी बाईपास पर मतदान केंद्र के पास उप महानिरीक्षक अब्दुल रज्जाक चीमा के काफिले को निशाना बनाया गया. हमले में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सुरक्षित बच गए. हालांकि, एसएचओ भोसा मंडी घायल हो गए.