close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इमरान से संभल नहीं रहा अपना पाकिस्तान, ईरान के मामले में बन रहा ठेकेदार

इमरान खान ने ईरानी नेतृत्व को बताया कि पाकिस्तान न केवल बातचीत में मदद करने के लिए तैयार है, बल्कि इस्लामाबाद में आमने-सामने की वार्ता की व्यवस्था करने के लिए भी तैयार है.

इमरान से संभल नहीं रहा अपना पाकिस्तान, ईरान के मामले में बन रहा ठेकेदार
.(फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान फारस की खाड़ी क्षेत्र में तनाव को कम करने के लिए जारी राजनयिक प्रयासों के तहत सऊदी और ईरानी अधिकारियों के बीच सीधी बातचीत कराने पर जोर दे रहा है. अधिकारियों ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून को यह जानकारी दी.अधिकारियों ने सोमवार को अखबार को बताया कि प्रधानमंत्री इमरान खान, जिनके साथ विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के प्रमुख ईरान दौरे पर गए थे, उन्होंने रविवार को तेहरान की अपनी यात्रा के दौरान यह प्रस्ताव रखा.

अधिकारियों के अनुसार, खान ने ईरानी नेतृत्व को बताया कि पाकिस्तान न केवल बातचीत में मदद करने के लिए तैयार है, बल्कि इस्लामाबाद में आमने-सामने की वार्ता की व्यवस्था करने के लिए भी तैयार है.उन्होंने बताया कि ईरानी पक्ष ने प्रस्ताव के प्रति अपना झुकाव दर्शाया, लेकिन कुछ चेतावनियों के साथ.

प्रधानमंत्री अब यही प्रस्ताव रियाद लेकर जाएंगे, जब वह मंगलवार को वहां पहुंचेंगे और शांति प्रयासों पर चर्चा करने के लिए क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात करेंगे. सऊदी अरब के दो तेल संयंत्रों पर 14 सितंबर के ड्रोन हमलों के बाद दोनों कट्टर प्रतिद्वंद्वियों सऊदी और ईरान के बीच तनाव बढ़ गया है.सऊदी और अमेरिका ने ड्रोन हमलों के लिए ईरान को दोषी ठहराया, लेकिन ईरान ने इस आरोप को साफ नकार दिया.