close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेरिका को 9 हेलिकॉप्टर लौटाने के बाद नया सौदा करना चाहता है पाकिस्तान

पाकिस्तान को 2002 में अमेरिका से नौ हेलिकॉप्टर मिले थे.

अमेरिका को 9 हेलिकॉप्टर लौटाने के बाद नया सौदा करना चाहता है पाकिस्तान

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने 2002 में अमेरिका से मिले नौ हेलिकॉप्टरों में से बचे पांच हेलिकॉप्टर को अमेरिका को लौटा दिया है और वह 'मादक पदार्थ रोधी अभियानों' के लिए अमेरिका से दोबारा हेलिकॉप्टरों का सौदा करने की कोशिश कर रहा है. मीडिया रिपोर्ट से इसकी जानकारी मिली. डॉन ऑनलाईन की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान ने करीब 15 वर्ष पूर्व प्राप्त नौ हेलिकॉप्टरों में से बचे पांच हेलिकॉप्टरों को भी सोमवार (30 अक्टूबर) को लौटा दिया. गृह मंत्रालय ने इससे पहले 15 अक्टूबर को चार हेलिकॉप्टरों को लौटा दिया था.

इस्लामाबाद ने वाॉशिंगटन से संघीय प्रशासित कबाइली क्षेत्र (फेटा) और बलूचिस्तान में मादक पदार्थ रोधी अभियान के लिए तीन फिक्स्ड विंग सेसना एयरप्लेन समेत 12 एयरक्राफ्ट लिए थे. समझौता समाप्त होने के बाद पाकिस्तान के पास इन्हें खरीदने या वापस लौटाने का विकल्प था. पाकिस्तान ने तीन सेसना हवाईजहाजों को खरीद लिया और हेलिकॉप्टर लौटा दिए. वॉशिंगटन ने हालांकि इस्लामाबाद से इन हेलिकॉप्टरों का 'राष्ट्रीयकरण' करने का आग्रह किया था लेकिन गृह मंत्रालय ने इसे खरीद कर उपयोग जारी रखने के बदले वापस लौटाने का निर्णय लिया.

कूटनीतिक सूत्रों के हवाले से डॉन ने कहा कि समझौते को दोबारा शुरू करने में परेशानी नहीं होगी क्योंकि दोनों देशों मादक पदार्थ और आतंकवाद के वित्तपोषण के सीधे संबंध के बारे में समझते हैं. वॉशिंगटन का मानना है कि क्षेत्र में मादक पदार्थ के व्यापार को रोकने से आतंकवाद में कमी आ सकती है.

इससे पहले अमेरिका में विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बीते शुक्रवार (27 अक्टूबर) को बताया था कि ट्रंप प्रशासन ने पाकिस्तान से स्पष्ट रूप से कहा है कि वह आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ‘निर्णायक’ कार्रवाई करें और अपनी सरजमीं पर पनाहगाहों का खात्मा करें. विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन हाल ही में अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत की अपनी पहली यात्रा करके लौटे हैं.

इसके एक दिन बाद विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा था, ‘हमने कई बार पाकिस्तान से यह कहा है कि उसे अपनी सीमाओं के भीतर आतंकवादी संगठनों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करनी चाहिए.’ विदेश यात्रा के अंतिम चरण जिनेवा में एक संवाददाता सम्मेलन में टिलरसन ने कहा था कि अमेरिका ने आतंकवादियों पर जानकारी साझा की है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने गुरुवार (26 अक्टूबर) को विदेश मामलों पर नेशनल असेंबली स्टैंडिंग कमेटी के साथ एक बैठक में कहा कि पाकिस्तान ना तो अमेरिका के सामने आत्मसमर्पण करेगा और ना ही अपनी संप्रभुत्ता से समझौता करेगा. आसिफ ने दावा किया कि अमेरिका ने पाकिस्तान को कोई विशेष ‘इच्छा सूची’ नहीं दी है.

अमेरिका ने 75 वांछित आतंकवादियों की सूची सौंपी हैं और पाकिस्तान पर इस बात के लिए जोर दिया है कि वह हक्कानी नेटवर्क पर कड़ा रुख अपनाए. आसिफ की टिप्पणियों पर एक सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि टिलरसन ने अपनी यात्रा के दौरान पाकिस्तानी नेतृत्व के सामने अमेरिका की ‘उम्मीदों’ को रखा.