close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दर-दर भटक रहा पाकिस्तान, हर मुस्लिमों देशों के सामने गिड़गिड़ाए इमरान, नहीं मिला किसी का साथ

इमरान खान ने हालांकि इस संबंध में मुस्लिम बहुसंख्यक देशों सहित करीब हर देश के नेता को फोन किया है, मगर बावजूद इसके किसी भी देश ने उसका समर्थन नहीं किया है.

दर-दर भटक रहा पाकिस्तान, हर मुस्लिमों देशों के सामने गिड़गिड़ाए इमरान, नहीं मिला किसी का साथ
फाइल फोटो-Reuters

इस्लामाबाद: जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कई कूटनीतिक प्रयासों के असफल होने के बाद पाकिस्तान ने मंगलवार को कहा कि वह इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में लेकर जाएगा. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एआरवाई न्यूज टीवी को बताया, "हमने कश्मीर मामले को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में ले जाने का फैसला किया है." उन्होंने कहा, "सभी कानूनी पहलुओं पर विचार करने के बाद यह निर्णय लिया गया है." पाकिस्तान का यह कदम अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा दिए गए बयान के बाद आया है. ट्रंप ने मोदी और इमरान खान को अपने दो दोस्त बताते हुए कश्मीर मुद्दे पर तनाव कम करने का आह्वान किया था.

इसके साथ ही ट्रंप ने इमरान को जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर भारत के खिलाफ बयानबाजी पर संयम बरतने की नसीहत भी दी थी. सोमवार को एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा, "मेरे दो अच्छे दोस्तों प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री इमरान खान से व्यापार, रणनीतिक साझेदारी और सबसे खास कश्मीर में तनाव कम करने को लेकर बात हुई है.

स्थिति कठिन है, लेकिन अच्छी बात हुई है." सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने भी कश्मीर स्थिति पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बात की है. दोनों नेताओं ने कई मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें मौजूदा कश्मीर संकट भी शामिल है.

पाकिस्तानी मीडिया की खबरों के अनुसार, खान ने सऊदी प्रिंस को जम्मू एवं कश्मीर की स्थिति के बारे में जानकारी दी है. इमरान खान ने हालांकि इस संबंध में मुस्लिम बहुसंख्यक देशों सहित करीब हर देश के नेता को फोन किया है, मगर बावजूद इसके चीन को छोड़कर किसी भी देश ने उसका समर्थन नहीं किया है.