पाकिस्तानी पत्रकार ने पीएम मोदी की तुलना आइटम गर्ल राखी सावंत से की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका दौरा जहां बेहद सफल माना जा रहा है। खासकर विदेशी मीडिया में पीएम मोदी के अमेरिका दौरे को खासी तरजीह दी गई है और उनकी प्रशंसा की गई है। यहां तक कि पाकिस्तान के अखबार 'द नेशन' ने भी पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए उन्हें एक 'चतुर राजनेता' बताया और पीएम नवाज शरीफ को मोदी से सीखने की नसीहत दी लेकिन पाकिस्तान के ही पत्रकार शाहिद मसूद ने अपनी संकीर्ण मानसिकता का परिचय देते हुए पीएम मोदी की तुलना आइटम गर्ल राखी सावंत की है।   

पाकिस्तानी पत्रकार ने पीएम मोदी की तुलना आइटम गर्ल राखी सावंत से की

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका दौरा जहां बेहद सफल माना जा रहा है। खासकर विदेशी मीडिया में पीएम मोदी के अमेरिका दौरे को खासी तरजीह दी गई है और उनकी प्रशंसा की गई है। यहां तक कि पाकिस्तान के अखबार 'द नेशन' ने भी पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए उन्हें एक 'चतुर राजनेता' बताया और पीएम नवाज शरीफ को मोदी से सीखने की नसीहत दी लेकिन पाकिस्तान के ही पत्रकार शाहिद मसूद ने अपनी संकीर्ण मानसिकता का परिचय देते हुए पीएम मोदी की तुलना आइटम गर्ल राखी सावंत की है।   

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक 'द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' न अपने ब्लॉग में लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका दौरा इतना जोशीला नहीं था, जितना दिखाई दे रहा था, उन्हें जबरदस्ती की कवरेज दी जा रही थी। ब्लॉग में पाकिस्तानी एंकर डॉ शाहिद मसूद के उस बयान को तवज्जो दी गई है जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी साहब आइटम गर्ल राखी सावंत की तरह हैं।

पाकिस्तानी अखबार 'द नेशन' ने सोमवार को मोदी की तारीफ की। अखबार ने अपनी संपादकीय में कहा कि मोदी ने अपनी दो दिन की यात्रा में न सिर्फ सिलिकॉन वैली के सबसे बड़े दिग्गजों से मुलाकात की बल्कि, फेसबुक के टाउन हॉल में लोगों से मुखातिब भी हुए। वह ऐसे पहले भारतीय हैं जिन्होंने पिछले 30 साल में यूनाइटेड स्टेट्स के वेस्ट कोस्ट का दौरा किया है।

अखबार ने पूछा कि नवाज शरीफ वहां क्या कर रहे हैं? मोदी ने अमेरिका में भारतीय प्रवासियों से जुड़ने पर अपना ध्यान केंद्रित किया जबकि नवाज शरीफ हमारे राष्ट्रीय अभिमान को मजबूती देने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति से उर्दू में बात करने पर विचार कर रहे थे। यह एक मजाक की तरह लगता है। पश्चिम को देने के लिए पाकिस्तान के पास कुछ भी नहीं है। सम्पादकीय में लिखा है कि पाकिस्तान को मोदी की चाल-ढाल और उनके बात-चीत के तरीके पर गौर करना चाहिए।

अखबार ने आगे लिखा है कि मोदी एक चतुर राजनेता हैं। वह अपनी अद्भुत चमत्कारी टाइमिंग से अपने विरोधियों को प्रभावहीन कर देने की क्षमता रखते हैं।  जबकि हम लोग पुरानी और व्यर्थ की नीतियों का अनुसरण कर रहे हैं। पश्चिमी देशों के बीच पाकिस्तानी की छवि तुरंत सुधारे जाने की जरूरत है। अमेरिका भारत को सैन्य मदद कर रहा है। आने वाले समय में हम अपनी एक मात्र सैन्य क्षमता खो देंगे। मोदी का यही लक्ष्य है। मोदी का लक्ष्य भारत का राजनीतिक एवं सैन्य प्रभाव बढ़ाना है। भारतीय पीएम के पास एक योजना है। क्या ऐसी योजना हमारे पास है?