गोटाबाया राजपक्षे से पीएम मोदी ने की द्विपक्षीय वार्ता, श्रीलंका को भारत देगा 550 मिलियन डॉलर

वहीं, श्रीलंका के राष्‍ट्रपति की तरफ से एक अहम ऐलान किया गया कि वे भारतीय मछुआरों की जब्‍त नावों को छोड़ेंगे.

गोटाबाया राजपक्षे से पीएम मोदी ने की द्विपक्षीय वार्ता, श्रीलंका को भारत देगा 550 मिलियन डॉलर
फोटो- ANI

नई दिल्ली : श्रीलंका (Sri Lanka) के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) के साथ शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने द्विपक्षीय बातचीत की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति को जीत की बधाई दी. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह हमारे लिए सम्मान की बात है कि राजपक्षे पहली विदेश यात्रा के लिए भारत आए. ये भारत और श्रीलंका की मित्रता दर्शाती है. साथ ही पीएम मोदी ने श्रीलंका में बुनियादी ढांचा और आर्थिक विकास, सोलर ऊर्जा को बढ़ावा देने और आतंकवाद से निपटने के लिए कुल 550 मिलियन डॉलर देने का ऐलान भी किया. 

वहीं, श्रीलंका के राष्‍ट्रपति की तरफ से एक अहम ऐलान किया गया कि वे भारतीय मछुआरों की जब्‍त नावों को छोड़ेंगे.

पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देश अपने संबंधों को महत्व देते हैं. दोनों देशों की सुरक्षा और समृद्धि के लिए हम दोनों एक साथ काम करेंगे. भारत की शुभेच्छा और सहयोग हमेशा श्रीलंका के साथ है. भारत श्रीलंका का अच्छा मित्र है. मेरी सरकार की नीति है कि पड़ोसी पहले. हम दोनों देश एक-दूसरे की सुरक्षा के लिए सचेत हैं. हमने निर्णय लिया है कि दोनों देशों के बीच बहुमुखी साझेदारी को और मज़बूत करेंगे.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत श्रीलंका के विकास में साझेदारी के लिए प्रतिबद्ध है. भारत श्रींलंका को अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए 400 मिलियन डॉलर देगा. हम सोलर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए श्रीलंका को 100 मिलियन डॉलर देंगे. हम दोनों देश आतंकवाद के खिलाफ एक साथ हैं. इस साल ईस्टर पर आतंकी हमले हुए. मैं चुनाव के तुरंत बाद श्रीलंका गया. आतंकवाद से निपटने के लिए हम श्रीलंका को 50 मिलियन डॉलर देंगे.

इससे पहले श्रीलंकाई राष्‍ट्रपि‍त का शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन में रस्मी स्वागत किया गया, जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके पहले भारत दौरे पर उनकी अगवानी के लिए मौजूद थे. अपने स्वागत के बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति ने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान वह भारत के साथ संबंधों को मजबूत बनाना सुनिश्चित करेंगे. राजपक्षे गुरुवार को नई दिल्ली पहुंचे और शुक्रवार को विदेशमंत्री एस. जयशंकर ने उनसे मुलाकात की. 

देश के बाहर अपने पहले दौरे के तहत नई दिल्ली पहुंचने से पहले श्रीलंका के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया था, "मैं अपने पहले राजकीय दौरे के तहत भारत जा रहा हूं और श्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने को उत्सुक हूं."