close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

UNGA में भाषण खत्म करके निकल जाएंगे PM मोदी, नहीं सुनेंगे इमरान खान की स्पीच

UNGA में पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण के करीब 30 मिनट बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का भाषण होगा. 

UNGA में भाषण खत्म करके निकल जाएंगे PM मोदी, नहीं सुनेंगे इमरान खान की स्पीच
(फाइल फोटो)

न्यूयॉर्क:  पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में आज शाम को अपना भाषण देने जा रहे हैं. पीएम मोदी के भाषण के कुछ समय बाद ही पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) भी इसी मंच से भाषण देंगे. लेकिन जब इमरान खान अपना भाषण दे रहे होंगे तो पीएम मोदी उनका भाषण सुनने के लिए वहां मौजूद नहीं होंगे. 

पीएम मोदी अपना भाषण खत्म करके निकल जाएंगे. जानकारी के मुताबिक पीएम नरेंद्र मोदी भारतीय समयानुसार शाम करीब 7.50 बजे सभा को संबोधित करेंगे. इसके करीब 30 मिनट बाद इमरान खान का भाषण होगा. 

प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014 और वर्ष 2015 में भी UNGA को संबोधित किया था. ये उनका संयुक्त राष्ट्र महासभा में तीसरा भाषण होगा. दोबारा प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद पीएम मोदी का ये UNGA में पहला भाषण है.

इन मुद्दों पर बात कर सकते हैं पीएम मोदी 
अपने भाषण में प्रधानमंत्री न्यू इंडिया की नीतियों से विश्व को अवगत करा सकते हैं. प्रधानमंत्री अपने भाषण में आतंकवाद का मुद्दा उठा सकते हैं. वर्ष 2014 में UNGA में ही प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद को गुड टेररिज्म (Good Terrorism) और बैड टेररिज्म (Bad Terrorism) में बांटे जाने को लेकर दुनिया के बड़े देशों की आलोचना की थी. 

पीएम मोदी के भाषण का एक विषय हो सकता है - पर्यावरण के लिए भारत के कदम . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) के खिलाफ अपने संकल्प को फिर से दोहरा सकते हैं. इसके अलावा नवीकरणीय ऊर्जा (Renewable Energy) के विषय पर भी प्रधानमंत्री दुनिया के सामने अपने विचार रख सकते हैं. वह स्वच्छता मिशन पर भी बात कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी अपने संबोधन में उज्ज्वला योजना का जिक्र भी कर सकते हैं. नरेंद्र मोदी ये बता सकते हैं कि किस तरह भारत कंप्रेस्ड (Compressed Bio Gas)  पर काम कर रहा है. वह भारत में जल संरक्षण, वर्षा जल संरक्षण और जल संसाधनों के विकास के लिए शुरू किए गए जल जीवन मिशन की भी चर्चा कर सकते हैं. इसके अलावा वह आयुष्मान भारत का भी ज़िक्र कर सकते हैं.