Ponzi Scheme के जरिए हजारों लोगों की जिंदगी बर्बाद करने वाले Bernie Madoff की मौत, Jail में ही तोड़ा दम

वॉल्ट डिजनी स्टूडियो के पूर्व अध्यक्ष जेफरी कटजेनबर्ग को भी बर्नी मैडॉफ (Bernie Madoff) की बातों में आकार भारी नुकसान उठाना पड़ा. मैडॉफ ये दावा करता रहा कि उसने धनी लोगों को और धनवान बनाया है, जबकि असलियत यह थी कि अपनी योजनाओं के जरिए उन्हें कंगाल बना रहा था.   

Ponzi Scheme के जरिए हजारों लोगों की जिंदगी बर्बाद करने वाले Bernie Madoff की मौत, Jail में ही तोड़ा दम
फाइल फोटो: रॉयटर्स

वॉशिंगटन: हजारों लोगों की जिंदगी बर्बाद करने वाले अमेरिकी फाइनेंसर बर्नी मैडॉफ (Bernie Madoff) की मौत हो गई है. मैडॉफ ने जेल में अंतिम सांस ली. माना जाता है कि मैडॉफ ने लोगों के करीब 64.8 बिलियन डॉलर ठगे. उसके इन काले कारनामों की बदौलत उसके बेटे ने भी अपनी जान दे दी थी. दुनिया की सबसे बड़ी पोंजी स्कीम (Ponzi scheme) के जरिए धोखाधड़ी करने वाले इस फाइनेंसर को 2008 में गिरफ्तार किया गया था. अदालत ने उसे 150 साल जेल की सजा सुनाई थी. हालांकि, सजा पूरी करने से पहले ही उसकी मौत हो गई.

कई Celebrities भी बनीं शिकार

‘द सन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, बर्नी मैडॉफ ने 136 देशों के करीब 37,000 लोगों को अपना शिकार बनाया. खास बात यह रही कि उसके धोखाधड़ी के जाल में फंसने वालों में मशहूर हस्तियां भी शामिल रहीं. यहां तक कि यूके का रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैंड भी मैडॉफ के झांसे में आकर उसकी स्कीम में पैसा लगा बैठा. इसके अलावा, हॉलीवुड निर्देशक स्टीवन स्पीलबर्ग (Steven Spielberg), अभिनेता जॉन मल्कोविच (John Malkovich), टीवी होस्ट लैरी किंग, केविन बेकन और कायरा सेडविक भी मैडॉफ की जालसाजी का शिकार बने.

ये भी पढ़ें -20 देशों में अभी भी ‘Marry Your Rapist’ का प्रावधान, ताकि Accused को कानूनी कार्रवाई से बचाया जा सके

VIDEO

1960 में मिली असल पहचान

वॉल्ट डिजनी स्टूडियो के पूर्व अध्यक्ष जेफरी कटजेनबर्ग को भी बर्नी मैडॉफ की बातों में आकार भारी नुकसान उठाना पड़ा. मैडॉफ ये दावा करता रहा कि उसने धनी लोगों को और धनवान बनाया है, जबकि असलियत यह थी कि अपनी योजनाओं के जरिए उन्हें कंगाल बना रहा था. 22 वर्ष की आयु में अपना वित्तीय करियर शुरू करने वाले मैडॉफ को असल पहचान तब मिली जब उसने 1960 में बर्नार्ड एल मैडॉफ इनवेस्टमेंट सिक्योरिटीज को लॉन्च किया. जल्द ही मैडॉफ वॉल स्ट्रीट के लिए एक जाना-पहचाना नाम हो गया. इतना ही नहीं, कुछ समय के लिए उसने नैस्डैक स्टॉक एक्सचेंज के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया.

2008 में सामने आया काला सच

माना जाता है कि बर्नी मैडॉफ ने अपनी पोंजी स्कीम 1970 के दशक में शुरू की, लेकिन इसका खुलासा 2008 के वित्तीय संकट के दौरान हुआ. जब निवेशकों ने अपना पैसा वापस मांगा, तो पता चला कि उनका पैसा डूब चुका है. लोगों ने उसकी फर्जी योजना की वजह से लाखों रुपए गंवाए, जिसमें होलोकॉस्ट सर्वाइवर और नोबल शांति पुरस्कार विजेता एली विजल भी शामिल रहे. विजल ने मैडॉफ की स्कीम में करीब 15 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा था कि बर्नी मैडॉफ को पता था कि वो क्या कर रहा है. मैं उसे चोर, अपराधी कहना चाहूंगा, जिसने हजारों लोगों की जिंदगी बर्बाद कर दी. 

Madoff के बेटे ने की Suicide

जब बर्नी मैडॉफ को गिरफ्तार किया गया, तो परिवार मैडॉफ के काले कारनामों पर यकीन नहीं कर पाया. परिवार का दावा था कि उसे इस बारे में कुछ भी नहीं पता. मैडॉफ के बेटे एंड्रयू और मार्क ने उस वक्त कहा था कि यदि उनके पिता ने कुछ गलत किया है तो उन्हें सजा जरूर मिलनी चाहिए. मार्च 2009 में जब मैडॉफ को प्रतिभूति धोखाधड़ी और अन्य आरोपों के तहत दोषी ठहराया गया, तब उसने कहा था कि वह अपने किए पर शर्मिंदा है. बर्नी मैडॉफ का बेटा मार्क इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाया और उसने 2010 में आत्महत्या कर ली. इससे पहले भी एक बार उसने अपनी जान देने का प्रयास किया था. जबकि दूसरे बेटे की लंबी बीमारी के चलते 2014 में मौत हो गई.

Soldier और Banker ने भी दी जान

बर्नी मैडॉफ की काली करतूतों की वजह से केवल उसके बेटे ने ही अपनी जान नहीं दी. अफगानिस्तान में अपना हाथ गंवाने वाले ब्रिटिश सैनिक विलियम फॉक्सटन ने भी मैडॉफ का शिकार बनने के आबाद मौत को गले लगा लिया. जब फॉक्सटन को पता चला कि उसकी जिंदगी भर की कमाई डूब गई है, तो वो यह कदम बर्दाश्त नहीं कर सका और आत्महत्या कर ली. इसी तरह, मैडॉफ की स्कीम में 1 बिलियन डॉलर का निवेश करने वाले फ्रांसीसी बैंकर ने भी अपनी जान दे दी थी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.