Breaking News
  • भारत और अमेरिका के बीच 5 समझौते हुए, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दे पर चर्चा हुई: राजनाथ सिंह

US मिलिट्री को ईरानी कोर्ट में खींचने की तैयारी, फाइटर जेट की वजह से घायल हुए ईरानी यात्री

ये घटना ईरान और अमेरिका के बीच तनावपूर्ण रिश्तों में सबसे नई है. ये तनाव उस वक्त से बढ़ गया है जबसे 2018 में ट्रम्प ने ईरान की 6 परमाणु शक्ति सम्पन्न देशों से न्यूक्लीयर डील से अमेरिका को बाहर निकाल लिया था और ईरान पर फिर से आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए

US मिलिट्री को ईरानी कोर्ट में खींचने की तैयारी, फाइटर जेट की वजह से घायल हुए ईरानी यात्री

नई दिल्ली: ईरानी ज्यूडीशियरी ने शनिवार को कहा है कि ईरान (Iran) की महान एयरलाइंस (Mahan Air) की फ्लाइट के घायल यात्री नुकसान के लिए यूएस मिलिट्री के खिलाफ ईरानी कोर्ट में मुकदमा कर सकते हैं. इससे पहले तेहरान (Tehran) ने कहा था कि एयरलाइन को इस हफ्ते सीरिया के ऊपर अमेरिकन फाइटर जेट ने प्रताड़ित किया था.

ईरानी मीडिया के मुताबिक गुरुवार को जब महान एयरलाइंस की एक फ्लाइट तेहरान से बेयरूत (Beirut) जा रही थी तो रास्ते में यूएस फाइटर जेट (US Fighter Jet) से भिड़ंत को बचाने के लिए पायलट ने अचानक प्लेन का रास्ता बदल दिया, जिसके चलते फ्लाइट में बैठे कई यात्रा घायल हो गए.

इधर, यूएस मिलिट्री ने कहा है कि उनका फाइटर जेट एफ-15 ईरान के विमान से सुरक्षित दूरी पर था, वो विमान के पास ‘विजुअल इन्सपेक्शन’ करने आया था क्योंकि ये विमान सीरिया में अमेरिकी फौजों के ठिकाने तन्फ गैरीसेन के बिलकुल बगल से निकला था.
 
ये भी पढ़ें:- कारगिल विजय के आज 21 साल पूरे, नेशनल वॉर मेमोरियल पर रक्षा मंत्री देंगे शहीदों को श्रद्धांजलि

आईएलएनए न्यूज एजेंसी के मुताबिक ईरानी ज्यूडीशियरी के ह्यमून राइट्स ऑफिस के अध्यक्ष अली बखेरी-कानी ने बयान दिया है कि, ‘महान एयर फ्लाइट-1152 के ईरानी, गैर ईरानी यात्री आतंकी यूएस मिलिट्री, उसके कमांडर, दोषी अधिकारी, सुपरवाइजर्स या उनके नीचे के अधिकारियों के खिलाफ नैतिक तौर पर या मुआवजे के लिए ईरानी अदालतो में मुकदमा कर सकते हैं’.

उन्होंने ये भी कहा कि यात्री इसके लिए इंटरनेशनल कानूनी रास्ता भी अपना सकते हैं, इसके लिए इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गनाइजेशन, इंटरनेशनल सिविल एविएशन समझौतों को देखने वाली यूएन एजेंसी भी जा सकते हैं. हालांकि अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि कोई यात्रा अमेरिका के खिलाफ ईरानी कोर्ट मे जा रहा है कि नहीं. लेकिन ईरान ने जरूर आईसीएओ में अमेरिका की शिकायत कर दी है. 

ये भी देखें-

ये घटना ईरान और अमेरिका के बीच तनावपूर्ण रिश्तों में सबसे नई है. ये तनाव उस वक्त से बढ़ गया है जबसे 2018 में ट्रम्प ने ईरान की 6 परमाणु शक्ति सम्पन्न देशों से न्यूक्लीयर डील से अमेरिका को बाहर निकाल लिया था और ईरान पर फिर से आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए, जिसके चलते ईरानी अर्थव्यवस्था की हालत खराब होती जा रही है. ईरानी स्टेट टीवी ने एयरलाइनर के अंदर की जो फुटेज प्रसारित की है, उसमे एक यात्री फर्श पर बिना हिले डुले पड़ा दिख रहा है, जबकि एक और का माथा और नाक घायल दिख रही है.

इनपुट-रॉयटर्स