लेबनान: प्रदर्शनकारियों ने कई मंत्रालयों में की तोड़फोड़, 100 से ज्यादा घायल

प्रदर्शनकारियों का ये गुस्सा उस विनाशकारी विस्फोट के कारण है जिसमें 158 लोग मारे गए थे और 6,000 से अधिक लोग घायल हो गए. लोग लगातार राजनेताओं के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

लेबनान: प्रदर्शनकारियों ने कई मंत्रालयों में की तोड़फोड़, 100 से ज्यादा घायल

बेरूत: लेबनान (Lebanon) के बेरूत (Beirut) शहर में प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को सरकारी मंत्रालयों पर धावा बोल दिया और कई लेबनानी बैंकों के संघ के कार्यालयों को भी तोड़ दिया. वहीं कुछ उग्र प्रदर्शनकारियों ने संसद की ओर जाने वाली सड़क पर पिकैट को तोड़ने की कोशिश भी की, जिसे रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के कई गोले दागे. इस दौरान पुलिस ने शॉट्स और रबर बुलेट के इस्तेमाल की पुष्टि भी की.

बता दें कि प्रदर्शनकारियों का ये गुस्सा उस विनाशकारी विस्फोट के कारण है जिसमें 158 लोग मारे गए थे और 6,000 से अधिक लोग घायल हो गए. लोग लगातार राजनेताओं के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं. यहां दर्जनों प्रदर्शनकारियों ने विदेश मंत्रालय में तोड़फोड़ की. उन्होंने राष्ट्रपति मिशेल औउन की एक तस्वीर को जला दिया जिसमें कई राजनीतिक वर्गों के प्रतिनिधि थे, जिन्होंने दशकों तक लेबनान पर शासन किया था. प्रदर्शनकारियोंं का कहना है कि ये लोग मौजूदा हालात के लिए दोषी हैं.

ये पूरी वारदात इलाके में लगे सीसीटीवी में भी कैद हो गई, जिसमें करीब 10 हजार प्रदर्शनकारी मंत्रालय की बिल्डिंग में तोड़फोड़ करते हुए नजर आ रहे हैं. इतना ही नहीं प्रदशर्नकारियों ने राजनेताओं से इस्तीफे की मांग करते हुए पोस्टर भी हवा में लहराए, जिसमें लिखा था 'तुम सब हत्यारे हो'.

ये भी पढ़े- क्या भारत-चीन दोबारा दोस्त बनेंगे? विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने दिया ये जवाब

एक प्रवक्ता ने बताया कि शनिवार को हुई इस हिंसक झड़प में एक पुलिसकर्मी की भी मौत हो गई है. प्रदर्शनकारियों द्वारा पीछा किए जाने के दौरान पुलिसकर्मी पास की एक इमारत में एक लिफ्ट के शाफ्ट में गिर गया था, जिसके कारण उसकी मृत्यु हो गई.

वहीं रेड क्रॉस ने कहा कि झड़प में घायल हुए करीब 117 लोगों का मौके पर ही इलाज किया गया. जबकि अन्य 55 लोगों को गंभीर चोट लगने के चलते अस्पताल ले जाया गया. पत्थरों से घायल कई पुलिसकर्मियों का इलाज एम्बुलेंस के कर्मचारियों द्वारा किया गया.

बेरूत में स्थित अमेरिकी दूतावास ने बयान जारी करके कहा कि अमेरिकी सरकार ने प्रदर्शनकारियों के शांतिपूर्ण विरोध के अधिकार का समर्थन किया और सभी को हिंसा से दूर रहने का आग्रह किया. लेबनान के लोगों को एक योग्य नेता मिलना चाहिए जो उनकी बात सुने और पारदर्शिता व जवाबदेही के लिए लोकप्रिय मांगों का महत्व दे. 

(इनपुट: रॉयटर्स)

LIVE TV