रूसी विमान गिराने के मसले पर पुतिन और अमेरिका में 'ठनी', US प्रेसिडेंट ओबामा ने तुर्की के समर्थन का किया वादा

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने एक रूसी विमान को गिराये जाने की घटना की पृष्ठभूमि में तुर्की के अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के अधिकार के लिए अमेरिका और नाटो के समर्थन का वादा किया है। व्हाइट हाउस ने कहा है कि ओबामा ने तुर्की के अपने समकक्ष रिसेप तैयीप एरदोगन के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान यह समर्थन व्यक्त किया।

रूसी विमान गिराने के मसले पर पुतिन और अमेरिका में 'ठनी', US प्रेसिडेंट ओबामा ने तुर्की के समर्थन का किया वादा

वाशिंगटन: राष्ट्रपति बराक ओबामा ने एक रूसी विमान को गिराये जाने की घटना की पृष्ठभूमि में तुर्की के अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के अधिकार के लिए अमेरिका और नाटो के समर्थन का वादा किया है। व्हाइट हाउस ने कहा है कि ओबामा ने तुर्की के अपने समकक्ष रिसेप तैयीप एरदोगन के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान यह समर्थन व्यक्त किया।

इसमें बताया गया है कि दोनों नेताओं ने स्थिति को लेकर तनाव कम करने की महत्ता और फिर इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति नहीं होना सुनिश्चित करने के लिए उपाय करने और आईएसआईएल को कमजोर कर उसका सफाया करने के लिए अपनी साझी प्रतिबद्धता दोहरायी। इससे पहले दिन में, ओबामा और फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने तुर्की और रूस के बीच तनाव को कम करने का आह्वान किया और दोनों से बातचीत करने की अपील की।

नाटो के सदस्य तुर्की ने ल सीरियाई सीमा के निकट रूस के एक युद्धक विमान को मार गिराया जिस पर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रोष प्रकट करते हुए इस घटना को आतंकवादियों के सहयोगियों द्वारा पीठ में छुरा घोंपने जैसा करार दिया। तुर्की की सेना ने कहा कि विमान ने पांच मिनट की अवधि में 10 बार तुर्की की हवाई सीमा का उल्लंघन किया जिसके बाद दो एफ-16 विमानों ने उसे मार गिराया। मॉस्को का दावा है कि विमान सीरियाई सीमा के भीतर था।

(एजेंसी इनपुट के साथ)