close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत की एयर स्ट्राइक के बारे में पाकिस्तान ने दी अमेरिका को जानकारी

भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को तड़के सीमापार स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के ठिकाने पर बड़ा एकतरफा हमला किया जिसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए . 

भारत की एयर स्ट्राइक के बारे में पाकिस्तान ने दी अमेरिका को जानकारी
(प्रतीकात्मक फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मंगलवार को अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से फोन पर बातचीत की और उन्हें भारतीय जेट विमानों द्वारा नियंत्रण रेखा के 'उल्लंघन' के बारे में अवगत कराया. यह बात मीडिया की एक खबर में कही गई है.

पाकिस्तान के सरकारी ‘रेडियो पाकिस्तान’ की खबर के अनुसार कुरैशी ने पोम्पियो के साथ टेलीफोन पर हुई अपनी बातचीत में कहा कि भारत ‘अपने राजनीतिक उद्देश्यों और चुनाव के लिए दक्षिण एशिया में शांति को खतरे में डाल रहा है.’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में शांति चाहता है लेकिन वह अपनी क्षेत्रीय अखंडता पर समझौता नहीं करेगा.

कुरैशी ने पोम्पियो से कहा कि भारतीय आक्रमण से अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के संयुक्त प्रयासों में बाधा आ सकती है. उन्होंने उम्मीद जताई कि अमेरिका क्षेत्र में अपनी भूमिका निभाएगा.

मंगलवार तड़के की भारत ने एयर स्ट्राइक
बता दें भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को तड़के सीमापार स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के ठिकाने पर बड़ा एकतरफा हमला किया जिसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए . 

विदेश सचिव ने बताया कि पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के बालाकोट में मौजूद सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर खुफिया सूचनाओं के बाद की गई यह कार्रवाई जरूरी थी क्योंकि आतंकी संगठन भारत में और आत्मघाती हमले करने की साजिश रच रहा था.

गौरतलब है कि 12 दिन पहले जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए आत्मघाती हमले में बल के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली थी.

विदेश सचिव ने बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में और आत्मघाती आतंकी हमले करने की साजिश रच रहा है. इसके लिए फिदायीन जिहादियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. गोखले ने कहा कि आसन्न खतरे को देखते हुए, एकतरफा कार्रवाई 'अत्यंत आवश्यक'  थी .

(इनपुट - भाषा)