हालिया हमले दुनिया भर के धूर्त शासकों के खिलाफ संदेश : अमेरिका

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के विदेश नीति के सलाहकार ने कहा है कि सीरिया एवं अफगानिस्तान में हालिया हमलों का वास्तविक उद्देश्य धूर्त शासनों को शह देने वालों को संदेश भेजना था.

हालिया हमले दुनिया भर के धूर्त शासकों के खिलाफ संदेश : अमेरिका
व्हाइट हाउस के उप-सहायक सेबेस्टियन गोरका (फोटो-फॉक्स न्यूज)

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के विदेश नीति के सलाहकार ने कहा है कि सीरिया एवं अफगानिस्तान में हालिया हमलों का वास्तविक उद्देश्य धूर्त शासनों को शह देने वालों को संदेश भेजना था.

व्हाइट हाउस के उप सहायक सेबेस्टियन गोरका के हवाले से ‘सीबीएस न्यूज’ ने कहा, ‘जो कार्रवाई हमने की वह सिर्फ सीरिया के किसी वायुसेना अड्डे या अफगानिस्तान में गुफाओं के बारे में नहीं थी. अन्य देश, जिन्हें आप जानते ही हैं वे देश कौन हैं और उनकी कार्रवाइयों से पड़ने वाले असर को भी समझते हैं.’ गोरका ने कहा कि सीरिया एवं अफगानिस्तान में हालिया हमलों के पीछे मंशा दुनिया भर के इन धूर्त शासनों को को संदेश भेजना था.

उन्होंने कहा, ‘यह बेहद बड़ा फैसला है. इसे भू-रणनीतिक और भूराजनैतिक तौर पर करना पड़ेगा, और याद रखें कि सीरिया और उत्तर कोरिया दोनों कोई ‘स्वतंत्र’ देश नहीं है बल्कि वे शक्तिशाली देशों की सूबेदारी करते हैं.’ गोरका ने कहा, ‘राष्ट्रपति का धन्यवाद कि उनके कारण इन देशों को अपने भू-रणनीतिक गणनाओं को एक बार फिर देखना पड़ा और खुद से कुछ निश्चित सवाल करने पड़े कि कौन प्रायोजक है और वे उन्हें कितना प्रायोजित करते हैं.’ 

बहरहाल उन्होंने उन देशों के नाम नहीं बताये जिन्हें ट्रम्प ने इन हमलों के जरिये निशाना बनाया था. उन्होंने कहा कि उनकी शख्सियत में कोई बदलाव नहीं आया है. डोनाल्ड ट्रम्प वही शख्स हैं जिन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान ओजपूर्ण भाषण दिया और दुनिया के बेहद ‘ताकतवर’ शख्स बने.