शोधकर्ताओं का दावा, चांद पर पानी की पर्याप्त मात्रा में होने के संकेत

चंद्रमा की ऊपरी सतह और अंदरूनी हिस्से के बीच में पर्याप्त मात्रा में पानी है. शोध के प्रमुख लेखक रॉल्फ मिलिकेन ने कहा कि चंद्रमा पर पानी के पाए जाने के पहले के निष्कर्षो में आंतरिक स्रोतों से पानी होने का पता नहीं चलता है.

शोधकर्ताओं का दावा, चांद पर पानी की पर्याप्त मात्रा में होने के संकेत
चंद्रमा की ऊपरी सतह और अंदरूनी हिस्से के बीच में पर्याप्त मात्रा में पानी है. (FILE PHOTO)

न्यूयॉर्क: शोधकर्ताओं का कहना है कि चांद की सतह के नीच अंदरूनी हिस्से में बड़ी मात्रा में पानी हो सकता है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, उपग्रह से मिले आंकड़ों के विश्लेषण से अमेरिका के ब्राउन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने ज्वालामुखी संग्रहों में या प्राचीन ज्वालामुखी के कारण चंद्रमा की सतह पर फैली चट्टानों के अंदरूनी स्तरों में प्राकृतिक रूप से पानी की पर्याप्त मात्रा होने का पता लगाया है.

पत्रिका जियोसाइंस में प्रकाशित शोध में कहा गया है कि यह बताता है कि चंद्रमा की ऊपरी सतह और अंदरूनी हिस्से के बीच में पर्याप्त मात्रा में पानी है. शोध के प्रमुख लेखक रॉल्फ मिलिकेन ने कहा कि चंद्रमा पर पानी के पाए जाने के पहले के निष्कर्षो में आंतरिक स्रोतों से पानी होने का पता नहीं चलता है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.