पाकिस्तान ने कहा, शांति के लिए जरूरी है कश्मीर मुद्दे का समाधान

अब्बासी और ममनून ने कहा कि कश्मीर मुद्दे का समाधान किए बिना इस क्षेत्र में शांति एवं समृद्धि का सपना पूरा नहीं हो सकेगा.

पाकिस्तान ने कहा, शांति के लिए जरूरी है कश्मीर मुद्दे का समाधान
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी. (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने सोमवार (5 फरवरी) को कहा कि कश्मीर मुद्दे का समाधान किए इस क्षेत्र में बिना शांति एवं समृद्धि का सपना बेमानी होगा और ‘आत्मनिर्णय’ के अधिकार के लिए संघर्ष में घाटी के लोगों को उसका सहयोग जारी रहेगा. राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ के मौके पर अपने संदेश में यह टिप्पणी की. पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘पाकिस्तान कश्मीर के लोगों के प्रति संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावों के मुताबिक आत्मनिर्णय के अधिकार के लिए उनके संघर्ष में अपना राजनीतिक, नैतिक और राजनयिक समर्थन दोहराता है.’’

पाकिस्तान के संघर्षविराम उल्लंघन पर सेना के वाइस चीफ ने कहा, भारत मुंहतोड़ जवाब देता रहेगा

अब्बासी ने भी अपने संदेश में कश्मीर के लोगों के प्रति एकजुटता प्रकट की. उन्होंने कहा कि सात दशक से ज्यादा समय गुजर जाने के बावजूद जम्मू-कश्मीर के लोगों को ‘आत्मनिर्णय के उनके बुनियादी अधिकारों से उपेक्षित रखा गया है जो संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के जरिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय की ओर से किए गए वादे के खिलाफ है.’’

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने मानवाधिकार आयुक्त कार्यालय और ओआईसी के स्वतंत्र स्थायी मानवाधिकार आयोग की टीमों को कश्मीर का दौरा करने की इजाजत नहीं दी है और इस तरह से वह जमीनी हालात के आकलन के अवसर से उपेक्षित कर रहा है. उन्होंने दावा किया, ‘‘भारत के पास छिपाने के लिए बहुत कुछ है.’’ दोनों नेताओं ने कहा कि कश्मीर मुद्दे का समाधान किए बिना इस क्षेत्र में शांति एवं समृद्धि का सपना पूरा नहीं हो सकेगा.

पाकिस्‍तान को भारत का कड़ा संदेश, 'गोलीबारी का जवाब मिलेगा, छोड़ेंगे नहीं'

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने सोमवार (5 फरवरी) को जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान द्वारा की गई गोलीबारी की निंदा की, जिसमें चार भारतीय जवान शहीद हो गए. हंसराज ने कहा कि 'पाकिस्तान को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.' गृह राज्य मंत्री ने कहा, "पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करता रहा है. और इस साल संघर्ष विराम उल्लंघनों की संख्या अधिक है." हंसराज ने संसद में बजट सत्र से पहले संवाददाताओं से कहा, "कल (रविवार, 4 फरवरी) उन्होंने फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया. हम पाकिस्तान के कृत्यों को माफ नहीं करेंगे." उन्होंने आगे कहा, "संघर्ष विराम का उल्लघंन पाकिस्तान की मूर्खता साबित होगा और उन्हें इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी."

(इनपुट एजेंसी से भी)