खुलासाः अमेरिकी खूफिया एजेंसी CIA का मुखबिर था किम का सौतेला भाई

दक्षिण कोरिया एवं अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कोरिया के अधिकारियों ने किम को मारने का आदेश दिया था क्योंकि वह उनके परिवार के वंशवादी शासन के लिये संकट बन गये थे. 

खुलासाः अमेरिकी खूफिया एजेंसी CIA का मुखबिर था किम का सौतेला भाई
अधिकारियों ने किम जोंग-नाम को मारने का आदेश दिया था.

वॉशिंगटन: उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नाम सीआईए के लिये मुखबिरी का काम करते थे और सीआईए के कारिन्दे कई बार उनसे मुलाकात कर चुके थे. मीडिया में आयी खबरों में इस बात की जानकारी दी गयी. किम जोंग नाम की हत्या 2017 में कुआलालंपुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर कर दी गयी थी. दो महिलाओं ने उनके चेहरे पर कुछ लगाया था जो संभवत: नर्व गैस थी. इसकी वजह से नाम की मौत हुई. हवाईअड्डा अधिकारियों को घटना के बारे में सूचित करने के बाद उन्हें एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

दक्षिण कोरिया एवं अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कोरिया के अधिकारियों ने किम को मारने का आदेश दिया था क्योंकि वह उनके परिवार के वंशवादी शासन के लिये संकट बन गये थे. बहरहाल उत्तर कोरिया ने इन आरोपों का खंडन किया है. किम और सीआईए के बीच संबंध को लेकर विस्तृत जानकारी अब तक अस्पष्ट है.

50 दिन बाद फिर दिखीं किम जोंग उन की छोटी बहन, जानिए किस पब्लिक प्रोग्राम में दिखीं

देखें लाइव टीवी

स्‍कूल गया नहीं, मशीनों के साथ गुजरा बचपन और फिर बन गया तानाशाह, ऐसा है किम जोंग उन

'वॉल स्ट्रीट जर्नल' की रिपोर्ट के अनुसार सीआईए के गुप्तचरों ने 45 वर्षीय किम से कई मौकों पर मुलाकात की थी. अखबार ने ''मामले की जानकारी रखने वाले अनामित व्यक्ति'' के हवाले से यह खबर प्रकाशित की. दक्षिण कोरिया की योनहप समाचार एजेंसी के अनुसार, एक साल पहले सिंगापुर में बैठक में अहम भूमिका निभाने वाले दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जेइ इन ने सोमवार को कहा था कि तीसरी उत्तर कोरिया-अमेरिका बैठक के लिए बातचीत चल रही है.