close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ऑस्ट्रेलिया में हुए आम चुनाव में यह गठबंधन बढ़ रहा बहुमत की ओर

संसद के निचले सदन, 151-सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में एक पार्टी को साधारण बहुमत के लिए 76 सीटों की आवश्यकता होती है. 

ऑस्ट्रेलिया में हुए आम चुनाव में यह गठबंधन बढ़ रहा बहुमत की ओर
प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन का फाइल फोटो...

मेलबर्न : ऑस्ट्रेलिया में हुए आम चुनाव में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन का गठबंधन बहुमत की ओर बढ़ रहा है. इसने एग्जिट पोल्स (चुनाव के बाद सर्वेक्षण) को गलत साबित कर दिया. सत्तारूढ़ गठबंधन की जीत के बाद विपक्षी लेबर पार्टी के नेता बिल शॉर्टन को इस्तीफा देने के लिए विवश होना पड़ा.

संसद के निचले सदन, 151-सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में एक पार्टी को साधारण बहुमत के लिए 76 सीटों की आवश्यकता होती है. चुनाव से पहले गठबंधन के पास 73 और विपक्षी लेबर पार्टी के पास 72 सीटें थी.

एबीसी के मुताबिक, प्रधानमंत्री मॉरिसन की लिबरल पार्टी बास, चिशोल्म, बूथबाई और वेंटवर्थ की सीटें जीत सकती है जिससे गठबंधन बहुमत का आंकड़ा पार करके कम से कम 77 सीटें हासिल कर सकता है.

भारतीय मूल के लिबरल पार्टी के एक अन्य प्रत्याशी दवे शर्मा ने निर्दलीय उम्मीदवार केरी फेल्प्स पर सोमवार की सुबह बढ़त ले ली.

फेल्प्स ने बाद में स्वीकार किया कि वह शर्मा से पूर्वी उपनगर सिडनी की सीट हार गई हैं. शर्मा ने मौजूदा सांसद पर 2572 मतों की बढ़त बना ली है. अबतक गठबंधन 75 सीटें जीत चुका है जबकि लेबर पार्टी को 65 सीटें मिली हैं.

एबीसी के मुख्य चुनाव विश्लेषक अटॉनी ग्रीन ने कहा कि गठबंधन के लिए बास सीट 76वीं होगी. ग्रीन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि चिशोल्म सीट 77वीं सीट होगी जबकि बूथबाय और वेंटवर्थ पहले से ही लिबरल के खाते में हैं.

(इनपुट भाषा से)