रूसी सेना का बड़ा फैसला, लक्ष्य प्राप्ति के बाद सीरिया से कम करेगी सेना

रूस की सेना का कहना है कि सारिया में वह अपनी लक्ष्य प्राप्ती के काफी निकट है और इसलिए इस वर्ष वहां अपनी मौजूदगी को घटाने की योजना बना रही है.

रूसी सेना का बड़ा फैसला, लक्ष्य प्राप्ति के बाद सीरिया से कम करेगी सेना
सीरिया में रूस का एक हवाई अड्डा और एक नौसेनिक संचालन केंद्र रहेगा.(फाइल फोटो)

सोची: रूस की सेना का कहना है कि सारिया में वह अपनी लक्ष्य प्राप्ती के काफी निकट है और इसलिए इस वर्ष वहां अपनी मौजूदगी को घटाने की योजना बना रही है. जनरल स्टाफ चीफ वेलेरी गेरासिमोव ने गुरूवार को संवाददाताओं को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘‘यकीनन कमांडर इन चीफ इस संबंध में कोई निर्णय लेंगे और समूह की संख्या को घटाया जाएगा. ’’उन्होंने कहा कि काफी बड़ी तादाद में सैनिकों को हटाया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘जब हम अपना काम पूरा कर लेंगे, सैन्य अभियान पूरा हो जाएगा. यहां करने को बहुत कम ही बचेगा.

यह भी पढ़े- ओबामा-पुतिन में हुई बात, सीरिया से रूस की सेना की होगी वापसी

सीरिया के पांच साल लंबे गृह युद्ध को खत्म करने के लिए शांति वार्ता का ताजा दौर चल रहा है. रूस सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद का प्रमुख समर्थक है. सैन्य कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिका ने भी कई बार कहा है कि रूस आतंकियों को निशाना नहीं बना रहा है, बल्कि असद विरोधियों को समाप्त कर रहा है. जबकि रूस ने कई बार इसका विरोध किया.

राष्ट्रपति असद के कार्यालय ने भी एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति असद भी रूस के इस कदम से सहमत हैं. बयान में कहा गया था कि सेना को वापिस बुलाने का आदेश 'जमीन पर जो स्थिति है, उसके अनुकूल' है. हालांकि राष्ट्रपति पुतिन इस बात को लेकर स्पष्ट हैं कि सीरिया में रूस का एक हवाई अड्डा और एक नौसेनिक संचालन केंद्र रहेगा.