चीन से तनाव के बीच भारत को मिला रूस का साथ, UNSC में भारत की स्थायी सदस्यता का किया जोरदार समर्थन

रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा कि भारत संयुक्त राष्ट्र में स्थाई सदस्यता के लिए मजबूत नॉमिनी है. 

चीन से तनाव के बीच भारत को मिला रूस का साथ, UNSC में भारत की स्थायी सदस्यता का किया जोरदार समर्थन
फाइल- ANI

नई दिल्ली: गलवान घाटी (Galwal Valley) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनातनी के बीच भारत को उसके पुराने दोस्त रूस का साथ मिला है. मंगलवार को भारत, रूस और चीन के विदेश मंत्रियों की हुई वर्चुअल बैठक में रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) में भारत की स्थाई सदस्यता का जोरदार तरीके से समर्थन किया. 

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (Sergei Lavrov) ने कहा कि आज हमने संयुक्त राष्ट्र में सुधार की समस्या पर बात की और भारत संयुक्त राष्ट्र में स्थाई सदस्यता के लिए मजबूत नॉमिनी है. उन्होंने आगे कहा कि हम भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करते हैं.

सर्गेई लावरोव ने चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर लद्दाख में चल रहे तनाव का भी इस दौरान जिक्र किया और कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि इसमें किसी तीसरे पक्ष के दखल देने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि दोनों देशो के बीच विवाद का शांतिपूर्ण समाधान किया जाएगा.

आपको बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब रूस ने सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता के लिए भारत का समर्थन किया है. रूस के विदेश मंत्री का यह बयान उस समय आया है जब भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर टेंशन जारी है.