S.Africa: पार्टी के अधिकारियों को एयरफोर्स जेट से यात्रा कराने पर मंत्री को मिली ऐसी सजा

दक्षिण अफ्रीका के एक मंत्री को एयरफोर्स जेट का उपयोग पार्टी के काम में करने के लिए फटकार लगाई गई है.

S.Africa: पार्टी के अधिकारियों को एयरफोर्स जेट से यात्रा कराने पर मंत्री को मिली ऐसी सजा
रक्षा मंत्री नोसिविवे मपीसा-नकाकुला (रायटर्स)

जोहान्सबर्ग (दक्षिण अफ्रीका): दक्षिण अफ्रीका के एक मंत्री को एयरफोर्स जेट का पार्टी के काम में इस्तेमाल करने के लिए फटकार लगाई गई है. इतना ही नहीं सजा के तौर पर उनकी तीन महीने की सैलरी भी काट दी गई है.

राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा (Cyril Ramaphosa) ने रविवार को कहा, 'दक्षिण अफ्रीका के रक्षा मंत्री को फटकार लगाई गई है और उन्‍हें तीन महीने का वेतन भी नहीं दिया जाएगा क्‍योंकि इस महीने की शुरुआत में वे सत्तारूढ़ पार्टी के अधिकारियों को वायुसेना के एक विमान में जिम्बाब्वे लेकर गईं थीं.' 

विमान में अफ्रीकी राष्ट्रीय कांग्रेस (ANC) के प्रतिनिधिमंडल की उपस्थिति के कारण इस बात की खासी आलोचना हो रही है कि पार्टी के कामों के लिए स्‍टेट रिर्सोसेस का उपयोग किया गया. 

ये भी पढ़ें: NCB के सामने सारा ने कबूला सुशांत संग अफेयर, ड्रग्स लेने पर कही ये बात

जिम्‍बाब्‍बे की राजधानी हरारे के लिए पार्टी पदाधिकारियों की ये यात्रा वहां की सत्‍तारूढ़ पार्टी जानू-पीएफ के साथ उस संकट वार्ता के लिए थी जिसका उद्देश्य देश की राजनीतिक और आर्थिक संकट से निपटने में मदद करना था. लेकिन उन्होंने निजी तौर पर यात्रा करने के बजाए रक्षा मंत्री नोसिविवे मपीसा-नकाकुला (Nosiviwe Mapisa-Nqakula) के विमान से यह यात्रा की. नोसिविवे की भी जिम्‍बाब्‍वे में एक मीटिंग निर्धारित थी. 

रामाफोसा ने एक बयान में कहा कि अब नोसिविवे एक नवंबर से तीन महीने तक अपना वेतन नहीं लेंगी और वह धनराशि देश को सपोर्ट करने वाले एक कोष में जाएगी. इसमें यह भी कहा गया कि रक्षा मंत्री ने 'सुशासन के सर्वोत्तम हित में' काम नहीं किया है. 

राष्ट्रपति ने खुद ही एएनसी प्रतिनिधिमंडल को भेजा था. उसे लेकर उन्‍होंने कहा है कि उम्मीद है कि पार्टी, एयरफोर्स जेट के इस्तेमाल के लिए सरकार को इसका भुगतान करेगी.

मंत्री के इस्‍तीफे की मांग 
वहीं दक्षिण अफ्रीका की मुख्य विपक्षी पार्टी डेमोक्रेटिक अलायंस (DA) ने मंत्री से तत्‍काल इस्‍तीफा देने की मांग की है. पार्टी ने एक बयान में कहा, 'डीए इस कदम को (मेपीसा-नकाकुला के) पद की शपथ और नैतिक मानदंडों का उल्‍लंघन मानती है और मांग करती है कि मंत्री को तुरंत निकाल देना चाहिए.' 

इसके अलावा विपक्ष ने एएनसी प्रतिनिधियों पर लॉकडाउन नियमों को तोड़ने का भी आरोप लगाया है क्योंकि दक्षिण अफ्रीका की सीमाएं कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए बंद की गईं हैं. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.