अगले साल भारत में आएगा नेल्सन मंडेला के संस्मरण का अगला संस्करण

रंगभेद विरोधी आंदोलन के नायक दिवंगत नेल्सन मंडेला के संस्मरण का अगला संस्करण अगले वर्ष भारत एवं ब्रिटेन में प्रकाशित होने वाला है।

लंदन : रंगभेद विरोधी आंदोलन के नायक दिवंगत नेल्सन मंडेला के संस्मरण का अगला संस्करण अगले वर्ष भारत एवं ब्रिटेन में प्रकाशित होने वाला है।

नेल्सन मंडेला फाउंडेशन के पास पुस्तक का ठोस, लेकिन अपूर्ण मसौदा है। इसे मंडेला ने दिसंबर, 2013 में अपनी मृत्यु से पहले लिखा था। उनकी पत्नी ग्रासा मशेल की इच्छा के अनुसार इसे मंडेला के कुछ पूर्व सलाहकारों के एक समूह द्वारा पूरा किया जाएगा।

प्रकाशक पैन मैक्मिलन ने आज बताया कि वह 2016 में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, भारत और आस्ट्रेलेशिया में मंडेला की आत्मकथा लॉन्ग वॉक टू फ्रीडम का सीक्वल प्रकाशित करेगा। अमेरिका और कनाडा में अभी इसके प्रकाशन अधिकारों को बेचा नहीं गया है।

प्रकाशक ने बताया कि नेल्सन मंडेला फाउंडेशन के पास किताब का नेल्सन मंडेला द्वारा लिखा गया एक पर्याप्त लेकिन अधूरा मसौदा है। मंडेला का दिसंबर 2013 में 95 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

संपादकीय निदेशक जॉर्जीना मॉर्ले ने बताया कि यह पुस्तक  हर जगह पर मौजूद पाठकों को याद दिलाएगी कि वह किसके लिए खड़े हुए और किस प्रकार अब भी उनकी सोच और उनका राजनीतिक फलसफा केवल दक्षिण अफ्रीका ही नहीं बल्कि दुनिया को बदल सकता है। पुस्तक के प्रकाशन की तिथि की अभी घोषणा नहीं की गई है।

ग्रासा ने कहा, मैं इससे बहुत खुश हूं कि उनके पूर्व सलाहकारों वाली टीम ने इस जिम्मेदारी को स्वीकार्य किया।