बांग्लादेश में सीरियल ब्लास्टः एक की मौत, 90 घायल, निशाने पर शिया समुदाय

बांग्लादेश में एक शिया मस्जिद के सामने शनिवार को हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में एक व्यक्ति की मौत हो गई और लगभग 90 लोग घायल हो गए। विस्फोट उस समय हुए, जब अल्पसंख्यक समुदाय के लोग पवित्र दिन अशूरा के अवसर पर जुलूस के लिए एकत्र हुए थे।

ढाका : बांग्लादेश में एक शिया मस्जिद के सामने शनिवार को हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में एक व्यक्ति की मौत हो गई और लगभग 90 लोग घायल हो गए। विस्फोट उस समय हुए, जब अल्पसंख्यक समुदाय के लोग पवित्र दिन अशूरा के अवसर पर जुलूस के लिए एकत्र हुए थे।

विस्फोट हुसैनी दालान में रात लगभग डेढ़ बजे हुए। यह 17वीं सदी का शिया समुदाय का महत्वपूर्ण अध्ययन केंद्र है। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक विस्फोट के समय शिया लोग अशूरा के अवसर पर पारंपरिक जुलूस की तैयारी कर रहे थे।

अशूरा इस्लामिक माह मुहर्रम के दसवें दिन मनाया जाता है। यह पैगंबर मोहम्मद के नवासे हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद में आयोजित किया जाता है। रैपिड एक्शन बटालियन के अतिरिक्त महानिदेशक जिया उल अहसन ने कहा कि लोगों की भीड़ पर हस्तनिर्मित बम फेंके गए।

हालांकि किसी भी समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। डेली स्टार ने एक पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया कि अधिकतर पीड़ित पुरुष हैं। विस्फोटों में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 87 अन्य घायल हो गए। इस्लामी चरमपंथियों के हिंसक हमलों के बीच इस साल हिंसा की आशंका बढ़ गई है। स्थानीय और कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

विस्फोटों के बाद लोग बदहवास हालत में इधर-उधर भाग रहे थे। अहसन ने कहा कि हम मौके से बरामद साक्ष्यों की जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'हमें लगता है कि ये विस्फोट देश में अराजकता की स्थिति पैदा करने के लिए किए गए थे।'