Zee Rozgar Samachar

अफगानिस्तान में सिख नेता का अपहरण, भारत से मदद की गुहार

अफगानिस्तान (Afghanistan) के पकतिया प्रांत में आतंकवादियों द्वारा चार दिन पहले अगवा किए गए सिख समुदाय के नेता नेदान सिंह का अब तक कोई पता नहीं चला है. इस बीच, अमेरिका में रहने वाले अफगान सिख समुदाय ने भारत से मदद की गुहार लगाई है.

अफगानिस्तान में सिख नेता का अपहरण, भारत से मदद की गुहार
फाइल फोटो

काबुल: अफगानिस्तान (Afghanistan) के पकतिया प्रांत में आतंकवादियों द्वारा चार दिन पहले अगवा किए गए सिख समुदाय के नेता नेदान सिंह का अब तक कोई पता नहीं चला है. इस बीच, अमेरिका में रहने वाले अफगान सिख समुदाय ने भारत से मदद की गुहार लगाई है. सिख समुदाय ने भारत सरकार से अफगानिस्तान में रहने वाले 600 से अधिक सिखों के पुनर्वास में मदद का आग्रह किया है. साथ ही वंदे भारत मिशन के तहत उन्हें वहां से निकालने की अपील की है.

न्यू जर्सी में अफगान सिख समुदाय के अध्यक्ष परमजीत सिंह बेदी ने न्यूज़ एजेंसी ANI से कहा, ‘मैंने अफगानिस्तान के सिख सांसद नरेंद्र सिंह से बात की है और उनका कहना है कि अफगानी अधिकारियों ने नेदान सिंह को आतंकवादियों से चंगुल से मुक्त कराने आश्वासन दिया है. नरेंद्र सिंह खुद भी तालिबानी नेताओं से बात कर रहे हैं’. नेदान सिंह पकतिया प्रांत के तसमनी जिले के गुरुद्वारे में सहायक के रूप में काम करते थे. परमजीत सिंह बेदी और समुदाय के अन्य सदस्य अब भारतीय केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी, विदेशमंत्री एस जयशंकर और संयुक्त राज्य अमेरिका में भारतीय दूत तरनजीत सिंह संधू को इस विषय में लिखित अपील भेजेंगे. 

भारत के प्रयासों से उत्साहित
भारत सरकार द्वारा अतीत में उठाए गए कदमों से उत्साहित अफगान सिख समुदाय के नेताओं ने भारत से आग्रह किया है कि अफगानिस्तान से फंसे सिखों और हिंदुओं को सुरक्षित निकालने के लिए प्रयास किया जाना चाहिए. संयुक्त राज्य में रहने वाले समुदाय के नेताओं का कहना है कि अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति बेहद खराब है. वह भारत को एकमात्र सुरक्षित आश्रय स्थल के रूप में देखते हैं. इसलिए हम भारत सरकार से अपील करते हैं कि उनकी सलामती के लिए जल्द कोई न कोई कदम उठाया जाए. 

बमुश्किल केवल 100 परिवार
गौरतलब है कि मई में छब्बीस अमेरिकी कांग्रेस नेताओं ने विदेशमंत्री माइक पोम्पिओ से अफगानिस्तान में फंसे सिख और हिंदू समुदाय के लोगों के सुरक्षित और शीघ्र पुनर्वास के लिए उपलब्ध सभी विकल्प इस्तेमाल करने का आग्रह किया था. किसी ज़माने में अफगान में सिख और हिंदू समुदाय के 250,000 लोग रहते थे, लेकिन भेदभाव और हिंसा के चलते यह संख्या लगातार घटती चली गई. मौजूदा वक्त में यहां मुश्किल से 100 परिवार ही निवास करते हैं. 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.