US Sikh Family Murder: अमेरिका में सिख परिवार की सामूहिक हत्या का मामला, प्रशासन ने बताई वारदात की वजह
topStorieshindi

US Sikh Family Murder: अमेरिका में सिख परिवार की सामूहिक हत्या का मामला, प्रशासन ने बताई वारदात की वजह

US Crime news: अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक पीड़ित परिवार ट्रांसपोर्ट कारोबारी था. इस परिवार की 8 महीने की बच्ची आरुही, उसकी मां जसलीन कौर, पिता जसदीप सिंह और जसदीप के भाई अमनदीप सिंह के शव इंडियाना रोड एंड हचिनसन रोड के पास एक बगीचे से बुधवार शाम बरामद हुए थे.

US Sikh Family Murder: अमेरिका में सिख परिवार की सामूहिक हत्या का मामला, प्रशासन ने बताई वारदात की वजह

US Sikh family muder case: अमेरिका (US) में सिख परिवार के 4 सदस्यों की हत्या करने के मामले के आरोपी को लेकर स्थानीय प्रशासन ने बड़ा खुलासा किया है. अमेरिकी जांच अधिकारियों के मुताबिक हत्या का आरोपी पहले इसी सिख परिवार के लिए काम करता था. अब पुलिस का ये कहना है कि हत्यारे का पीड़ित सिख परिवार से पुराना विवाद और रंजिश थी. अमेरिका की स्टेट काउंटी के शेरिफ ने यह जानकारी मीडिया के साथ साझा की है.

हत्या में शामिल आरोपी की तलाश जारी

शेरिफ ने इसे एक ‘बेहद घृणित’ कृत्य करार दिया है. मर्सेड काउंटी के शेरिफ वर्न वार्नके ने बृहस्पतिवार को बताया कि मारे गए सिख परिवार के रिश्तेदार इस घटना से बेहद स्तब्ध एवं दुखी हैं. जांचकर्ताओं ने संदिग्ध के खिलाफ एक केस तैयार किया है और हत्या के आरोपी एक साथी की तलाश में दबिश दी जा रही है.

आदतन अपराधी है हत्या का आरोपी

आरोपी को पहले ही एक मामले में सजा मिल चुकी है. अपहरण के एक दिन बाद उसने खुद को मारने की कोशिश की थी. शेरिफ वार्नके ने ‘द एसोसिएटेड प्रेस’ से कहा, ‘पीड़ित परिवार के रिश्तेदार गम में डूबे हैं. हमें उन्हें यह दिखाना होगा कि हम उन्हें न्याय दिलाएंगे.’

उन्होंने बताया कि 48 साल का संदिग्ध जीसस मैनुअल सालगाडो अब भी अस्पताल में भर्ती है. अभियोजक उसे मौत की सजा देने की मांग करेंगे. शेरिफ ने इसे 43 वर्ष के अपने कार्यकाल में सबसे घिनौने अपराधों में से एक बताया. 

कैलिफोर्निया पुलिस के मुताबिक सालगाडो पहले भी डकैती के एक मामले में दोषी ठहराया जा चुका है. तब उसे 11 साल की सजा हुई थी और वह 2015 में रिहा हुआ था.

ट्रांसपोर्ट कारोबारी था पीड़ित परिवार

शेरिफ वार्नके ने बताया कि मर्सेड शहर में परिवार का ट्रक का व्यवसाय था. आपको बताते चलें कि इस परिवार की एक 8 महीने की बच्ची आरुही धेरी, उसकी मां जसलीन कौर (27), पिता जसदीप सिंह (36) और जसदीप के भाई अमनदीप सिंह (39) के शव इंडियाना रोड एंड हचिनसन रोड के पास एक बगीचे से बुधवार शाम बरामद हुए थे. आरोपियों ने बीते सोमवार को इस फैमिली को अगवा कर लिया था.

सार्वजनिक रिकॉर्ड के अनुसार, परिवार ‘यूनिसन ट्रकिंग इंक’ का मालिक था और उनके रिश्तेदारों ने बताया कि उन्होंने हाल में एक पार्किंग स्थल में एक कार्यालय खोला था.

अगवा करने के एक घंटे बाद निर्मम हत्या

शेरिफ ने बताया कि संदिग्ध सालगाडो और परिवार के बीच सालभर पुराना विवाद था. हालांकि यह जानकारी नहीं मिली है कि सालगाडो वहां क्या काम करता था और उसने कब तक सिख फैमिली के यहां काम किया. वार्नके ने कहा कि उन्हें लगता है कि सोमवार सुबह अपहरण करने के एक घंटे के भीतर ही परिवार की हत्या कर दी गई थी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news