दक्षिण अफ्रीका: मंडेला के सम्मान में जारी होंगे 10, 20 ,50 के नए नोट

दक्षिण अफ्रीका रिजर्व बैंक (एसएआरबी) ने रविवार को कहा कि वह नेल्सन मंडेला के सम्मान में नोट जारी करेगा. 

दक्षिण अफ्रीका: मंडेला के सम्मान में जारी होंगे 10, 20 ,50 के नए नोट
"एसएआरबी की सहयोगी संस्था, साउथ अफ्रीकन मिंट भी पांच रैंड के सिक्के जारी करेगी.(फाइल फोटो)

जोहान्सबर्ग: दक्षिण अफ्रीका रिजर्व बैंक (एसएआरबी) ने रविवार को कहा कि वह नेल्सन मंडेला के सम्मान में नोट जारी करेगा. केंद्रीय बैंक ने कहा कि मंडेला के जन्म शताब्दी समारोहों के हिस्से के रूप में 10, 20, 50, 100 और 200 रैंड के नोट जारी किए जाएंगे. एसएआरबी के गवर्नर लेसेत्जा गानयागो ने कहा, "नेल्सन मंडेला दक्षिण अफ्रीकी नागरिक के रूप में हमारे बेहतरीन संस्करण का प्रतिनिधित्व करते हैं. "

उन्होंने कहा, "हमने उनके सम्मान में 2012 में नोटों की श्रृंखला पेश की थी.  पैसे के मूल्य को बचाए रखने के साथ हमारा उद्देश्य संस्थागत ताकत को मजबूत करना, स्थाई और समृद्ध अर्थव्यवस्था में योगदान देना और सभी देशवासियों की भलाई की दिशा में काम करना है. "एसएआरबी की सहयोगी संस्था, साउथ अफ्रीकन मिंट भी पांच रैंड के सिक्के जारी करेगी.

यह भी पढ़ें- आपको पता है, नेल्सन मंडेला के थे पांच और भी नाम

नेल्सन मंडेला का 18 जुलाई, 1918 को जन्म हुआ था और ये नए नोट 18 जुलाई, 2018 को जारी किए जाएंगे. केंद्रीय बैंक का कहना है कि नए के साथ-साथ पुरानी मुद्राएं भी चलन में बनी रहेंगी. 

सोने की खदान में फंसे 900 में से ज्यादातर मजदूरों को निकाला गया
पिछले 2 फरवरी को दक्षिण अफ्रीका में बुधवार की शाम से खदान में फंसे लगभग एक हजार कर्मियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था. सभी कर्मियों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए यह अभियान कई घंटों तक जारी रहा. खदान कंपनी सिबन्ये गोल्ड ने कहा कि बचाव का काम तेजी से चलाया गया. कंपनी के प्रवक्ता जेम्स वेलस्टेड ने कहा, ‘‘ बिजली बहाल हो गई, जिसके बाद कर्मचारियों को निकालना शुरू किया गया. धीरे-धीरे सभी 995 मजदूरों को बाहर निकाल लिया गया.’’ सुबह तक निकाले गए कर्मियों को लेकर कई बसें बीट्रिक्स सोने की खदान से निकल पड़ी. बताया जा रहा है कि सभी मजदूरों का स्वास्थ्य स्थिर है. हालांकि, कुछ को डीहाइड्रेशन और ब्लड प्रेशर संबंधी कुछ समस्याएं हुईं हैं, उन्हें मेडिकल सुविधा उपलब्ध करवा दी गई.

आंधी-तूफान के कारण फंसे
जानकारी के मुताबिक, आंधी-तूफान के कारण इलाके की बिजली की लाइनें टूट गईं थीं. जिससे मजदूर सुरंग और शाफ्ट में फंसे रह गए थे. सोने की खदान से बुधवार रात को 50 लागों को बाहर निकाल लिया गया था, लेकिन 900 लोग अंदर ही फंसे रह गए थे.

इनपुट आईएएनएस से भी