close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

श्रीलंका विस्फोट दक्षिण एशिया में ‘नए तरह के आतंकवाद’ के खतरे का है संकेत: नेपाल

नेपाल के उप प्रधानमंत्री एवं रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल ने कहा कि नेपाल को आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई पर विश्वभर में अपने मित्रों के अनुभवों से सीखना चाहिए.

श्रीलंका विस्फोट दक्षिण एशिया में ‘नए तरह के आतंकवाद’ के खतरे का है संकेत: नेपाल
श्रीलंका में 21 अप्रैल को हुए आत्मघाती हमलों में 258 लोगों की मौत हो गई थी और 500 लोग घायल हुए थे (फाइल फोटो)

काठमांडू: नेपाल के उप प्रधानमंत्री एवं रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल ने कहा है कि ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए बम विस्फोटों ने इस बात का संकेत दिया है कि दक्षिण एशिया में ‘नए प्रकार के आतंकवाद’ का खतरा पहुंच गया है. उन्होंने कहा कि नेपाल को आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई पर विश्वभर में अपने मित्रों के अनुभवों से सीखना चाहिए.

पोखरेल ने यहां रविवार को नेपाल सेना द्वारा आयोजित ‘डॉयलाग्स ऑन पब्लिक सिक्योरिटी: काउंटरिंग टेररिज्म’ विषय पर आयोजित एक सम्मेलन में कहा कि क्षेत्रीय एवं राष्ट्रीय संदर्भों में आतंकवाद की जटिलता को समझना महत्वपूर्ण है.  श्रीलंका में 21 अप्रैल को हुए आत्मघाती हमलों में 258 लोगों की मौत हो गई थी और 500 लोग घायल हुए थे.

'हम इन हमलों से दुखी हैं'
‘माय रिपब्लिका’ समाचार पत्र ने पोखरेल के हवाले से कहा,‘हमने विश्व के कई हिस्सों में निर्दोष लोगों पर आत्मघाती हमले देखे हैं और हम इन हमलों से दुखी हैं.’ उन्होंने कहा, ‘श्रीलंका में अप्रैल में ईस्टर के मौके पर हुए हमले यह साफ और मजबूत संदेश भेजते हैं कि दक्षिण एशिया में नए प्रकार के आतंकवाद का खतरा पहुंच गया है.’

उप प्रधानमंत्री ने कहा,‘सुरक्षा संबंधी खतरे अब राष्ट्रीय सीमाओं से नहीं बंधे हैं और न ही इनसे पारंपरिक आयुधों से निपटा जा सकता है.’ उन्होंने कहा कि आतंकवाद की समस्या से निपटने के लिए घरेलू, क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास आवश्यक है.