अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां, वायरस के प्रकोप से डरा श्रीलंका

श्रीलंका के मंत्री अरुमुगम थोंडामन को अंतिम विदाई देने के लिए भारी भीड़ उमड पड़ी. कर्फ्यू और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया. 

अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां, वायरस के प्रकोप से डरा श्रीलंका
श्रीलंका में संघ नेता अरुमुगम थोंडामन को अंतिम विदाई देने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

कोलंबो, श्रीलंका: श्रीलंका के मंत्री अरुमुगम थोंडामन की मृत्यु के बाद शनिवार को हजारों की तादात में शोक मनाने वाले लोगों ने उनके पार्थिव शरीर के दर्शन कर अंतिम विदाई दी. जाहिर तौर पर कर्फ्यू और सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं. अब श्रीलंका सरकार ने नए कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप की आशंका जताई है.

अरुमुगम थोंडामन चाय बागान संघ के नेता और मंत्री थे जिन्हें अंतिम विदाई देने के लिए भारी भीड़ उमड पड़ी. 55 वर्षीय थोंडामन की मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई थी और नुवारा एलिया में रविवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाना था. अधिकारियों ने थोंडामन के पार्थिव शरीर तक भीड़ को न पहुंचने देने के असफल प्रयास में 24 घंटे का कर्फ्यू लगा दिया था.

सरकारी डॉक्टरों के एक समूह ने चेतावनी दी कि 'ये अंतिम संस्कार वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अब तक किए गए उपायों में जनता के विश्वास को कम कर सकता है और दूसरे प्रकोप का कारण बन सकता है.'

ऐसे समय जब स्वास्थ्य अधिकारियों ने अंतिम संस्कार में केवल परिवार के लोगों को ही शामिल होने की सलाह दी हो, तब डॉक्टरों ने थोंडामन की सार्वजनिक विदाई पर नाराजगी व्यक्त की है.

इलाके के एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि- 'भीड़ को नियंत्रित करना मुश्किल हो गया है. मंत्री जी के समर्थकों ने उनके अंतिम दर्शन करने के लिए एक इमारत में घुसने के लिए पुलिस बैरियर को तोड़ने की भी कोशिश की.'

ये भी देखें-

श्रीलंका में COVID-19 का पहला रोगी जनवरी में सामने आया था. और तब से लेकर अब तक यहां वायरस से 1,559 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 10 लोगों की मौत हो चुकी है.