श्रीलंका : सिनेमाघर के पास खड़ी थी संदिग्ध मोटरसाइकिल, पुलिस ने नियंत्रित विस्फोट से उड़ाया

कोलंबो में सिवोय सिनेमा के पास बुधवार सुबह एक और धमाका हुआ है. विस्‍फोटक मोटरसाइकिल में रखा हुआ था, जिसमें यह धमाका हुआ है. 

श्रीलंका : सिनेमाघर के पास खड़ी थी संदिग्ध मोटरसाइकिल, पुलिस ने नियंत्रित विस्फोट से उड़ाया
कोलंबो में सवोय सिनेमा के पास बुधवार सुबह एक और धमाका हुआ. (फोटो साभार- @JakeWSimons)

नई दिल्‍ली/कोलंबो : सिलसिलेवार बम धमाकों से विचलित श्रीलंका  में अब भी ‘हाई अलर्ट’ जारी है, जिसके चलते पुलिस ने बुधवार को यहां सिनेमाघर के पास खड़ी एक संदिग्ध मोटरसाइकिल को नियंत्रित विस्फोट से उड़ा दिया.

पुलिस ने बताया कि दक्षिणी कोलंबो में सवॉय सिनेमा के पास के इलाके को खाली कराकर बम निरोधक दस्ते ने संदिग्ध मोटरसाइकिल पर नियंत्रित विस्फोट किया. हालांकि मोटरसाइकिल से कोई विस्फोटक बरामद नहीं हुआ.

श्रीलंका पुलिस ने सभी वाहन चालकों से कहा है कि वे शहर में कहीं भी अपना वाहन खड़ा करने पर अपना टेलीफोन नम्बर वाहन के पास छोड़कर जाएं. 

गौरतलब है कि गत रविवार को ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों में हुए सिलसिलेवार हमलों में 359 लोग मारे गए हैं. मामले में अभी तक 60 लोगों गिरफ्तार किया गया है. द्वीप राष्ट्र में अब तक के इन सबसे घातक हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है.

पुलिस प्रवक्ता रुवान गुनसेकेरा ने बताया कि व्यापाक तलाश अभियान चलाया गया और इस संबंध में मंगलवार को कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया. गुनासेकेरा ने कहा, ‘‘मरने वालों की संख्या 359 पर पहुंच गई है.’’ 

इस्लामिक स्टेट ने द्वीप राष्ट में हुए इन घातक हमलों की जिम्मेदारी ली और हमलों को अंजाम देने वाले आत्मघातियों की पहचान भी की है. ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए हमलों को सात आत्मघाती हमलावरों ने अंजाम दिया था.

इस्लामिक स्टेट ने श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए भयानक आत्मघाती हमलों की मंगलवार को जिम्मेदारी ली और इसे अंजाम देने वाले सात आत्मघाती बम हमलावरों की पहचान की.

जिहादी गतिविधियों की निगरानी करने वाले साइट इंटेलीजेंस ग्रुप के अनुसार अपनी प्रचार संवाद समिति ‘अमाक’ के मार्फत एक बयान में आईएसआईएस ने कहा, ‘‘ दो दिन पहले श्रीलंका में गठबंधन के सदस्य देशों के नागरिकों और ईसाइयों को निशाना बना कर जिन लोगों ने हमला किया, वे इस्लामिक स्टेट समूह से जुड़े थे.’’ 

इस बयान में हमलावरों की पहचान अबु उबायदा, अबु अल मुख्तार, अबु खलील, अबु हम्जा, अबु अल बारा, अबु मुहम्मद और अबु अब्दुल्लाह के रूप में की गयी है. बयान में यह भी बताया गया कि किसने कहां हमला किया. बयान में यह भी दावा किया है कि इन धमाकों में करीब 1000 लोग या तो मारे गये हैं या घायल हुए हैं.