United Kingdom में Gandhi जी और Winston Churchill की मूर्तियां गिराई जा सकती हैं, ये है वजह

ये रिपोर्ट ब्लैक लाइव्स मैटर (Black Lives Matter) के विरोध के दौरान सामने आई है. इसमें ब्रिटेन के (Britain) के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल (Winston Churchill) और महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) जी की प्रतिष्ठा पर सवाल उठाया गया है.

United Kingdom में Gandhi जी और Winston Churchill की मूर्तियां गिराई जा सकती हैं, ये है वजह
फोटो में बाईं तरफ ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल और दाईं तरफ महात्मा गांधी की मूर्ति (फाइल फोटो) | फोटो साभार: रॉयटर्स

लंदन: ऐसी आशंका जताई जा रही है कि ब्रिटेन के (Britain) के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल (Winston Churchill) और महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की मूर्तियां गिराई जा सकती हैं. दरअसल, ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि गुलामी और उपनिवेशवाद में शामिल होने की समीक्षा करने वाली वेल्श सरकार की रिपोर्ट में विंस्टन चर्चिल (Winston Churchill) और महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) दोनों का नाम शामिल है.

गौरतलब है कि इस रिपोर्ट में कई प्रतिष्ठित लोगों पर सवाल उठाए गए हैं. इसके अलावा उन सभी के दोषों का आंकलन करने की जरूरत पर भी जोर दिया गया है. ये रिपोर्ट ब्लैक लाइव्स मैटर (Black Lives Matter) के विरोध के दौरान सामने आई है. इसमें ब्रिटेन के (Britain) के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल (Winston Churchill) और महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) जी की प्रतिष्ठा पर सवाल उठाया गया है.

इस रिपोर्ट के मुताबिक, विंस्टन चर्चिल के नाम पर 2 बिल्डिंग और 15 स्ट्रीट्स हैं, जिन्हें साउथ वेल्स में रहने वाले खनन समुदाय के लोगों द्वारा बड़े पैमाने पर नापसंद किया जाता है.

ये भी पढ़ें- France में पाकिस्तानी इमाम ने TikTok से फैलाए नफरती वीडियो, पहुंच गया जेल

रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल ने `ब्रिटिश साम्राज्य को खत्म करने का विरोध किया था`, `एंग्लो-सैक्सन (Anglo-Saxon) जाति की श्रेष्ठता में विश्वास जताया था`, और वो `भारत के बंगाल को राहत देने के लिए पर्याप्त कार्रवाई करने में फेल हो गए थे.'

जान लें कि इस रिपोर्ट में भारत (India) की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी जी का नाम भी है, जिनकी मूर्ति (Statue) वेल्श की राजधानी में लगी हुई है. महात्मा गांधी जी का नाम `अश्वेत साउथ अफ्रीकन लोगों के खिलाफ नस्लवाद` को लेकर शामिल किया गया है.

ये भी पढ़ें- Corona Vaccine की जांच पड़ताल करते हुए PM Modi, देखिए Exclusive PHOTOS

ऑडिटर का नेतृत्व करने वाले ग्योर लेगेल ने बताया कि लोगों के लिए कुछ विवादास्पद स्मारक म्यूजियम में स्थानांतरित किए जा सकते हैं. हालांकि मुझे इन्हें तोड़ने का कोई मामला नहीं दिख रहा है.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.