बशीर की यात्रा की आलोचना को लेकर सूडान ने EU के राजदूत को किया तलब

युगांडा एवं जिबूती द्वारा सूडान के राष्ट्रपति उमर अल - बशीर की मेजबानी को लेकर यूरोपीय संघ (ईयू) के आलोचना वाले बयान पर विरोध प्रकट करने के लिये सूडान ने ईयू के राजदूत को तलब किया. 

बशीर की यात्रा की आलोचना को लेकर सूडान ने EU के राजदूत को किया तलब
फोटो साभार : सोशल मीडिया

खार्तूम : युगांडा एवं जिबूती द्वारा सूडान के राष्ट्रपति उमर अल - बशीर की मेजबानी को लेकर यूरोपीय संघ (ईयू) के आलोचना वाले बयान पर विरोध प्रकट करने के लिये सूडान ने ईयू के राजदूत को तलब किया. अंतरराष्ट्रीय आपराधिक अदालत (आईसीसी) में बशीर वांछित हैं. 

हेग स्थित आईसीसी ने बशीर के खिलाफ वारंट जारी किया है. उन पर वर्ष 2003 में सूडान के पश्चिम क्षेत्र दारफुर में युद्ध अपराधों एवं नरसंहार के आरोप हैं. सूडान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह ईयू की आलोचना को खारिज करता है कि जिबूती और युगांडा ने बशीर की हालिया यात्रा के दौरान उनका ‘‘ आत्मसमर्पण ’’ नहीं कराया. 

मंत्रालय के बयान में कहा गया , ‘‘ सूडान के विदेश मंत्रालय ने सूडान का खेद प्रकट करने और ईयू के उस बयान को खारिज करते हुए अपना विरोध प्रकट करने के लिये आज (बुधवार) ईयू के राजदूत को तलब किया , जिसमें अफ्रीकी देशों पर दबाव डाला गया तथा उन्हें सूडान के बारे में आईसीसी के आरोपों को स्वीकार करने के लिये कहा गया. बशीर ने पिछले सप्ताह युगांडा के अपने समकक्ष योवेरी मुसेवेनी और दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति सालवा कीर के साथ एक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया था. इस बातचीत का लक्ष्य दक्षिण सूडान में युद्ध खत्म करना था.