तालिबान ने काबुल एयरपोर्ट के 3 गेट्स पर किया कब्जा, उड़ानों पर भी लगाई रोक

Kabul Airport Latest Updates: तालिबान ने 31 अगस्त तक काबुल एयरपोर्ट खाली करने का अल्टीमेटम दिया था. लेकिन लड़कों ने उससे पहले ही एयरपोर्ट के तीन गेट्स पर कब्जा कर लिया है. उन्होंने सभी लोगों को बाहर निकाल दिया है, और फ्लाट्स के संचालन पर भी रोक लगा दी है.

तालिबान ने काबुल एयरपोर्ट के 3 गेट्स पर किया कब्जा, उड़ानों पर भी लगाई रोक
काबुल एयरपोर्ट के 3 गेट्स पर तालिबान का कब्जा हो गया है.

काबुल: अफगानिस्तान में काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) के बाहर हुए आतंकी हमले का जवाब भले ही अमेरिका (US) ने ड्रोन अटैक करके दे दिया हो, लेकिन तालिबान (Taliban) का खौफ लगाातार बढ़ता जा रहा है. अब खबर मिली है कि अमेरिका और गठबंधन बलों ने काबुल एयरपोर्ट के 3 गेट्स का नियंत्रण तालिबान को सौंप दिया है, जिसके बाद एयरपोर्ट खाली कराने का काम तालिबान लड़ाकों ने शुरू कर दिया है.

विशेष बलों की यूनिट तैनात

समूह के अधिकारी इनहामुल्लाह सामानगनी ने रविवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया, 'अब अमेरिकी सैनिकों का एयरपोर्ट के एक छोटे से हिस्से पर नियंत्रण है, जिसमें एक ऐसा क्षेत्र भी शामिल है, जहां एयरपोर्ट का रडार सिस्टम स्थित है.' अधिकारी ने बताया कि तालिबान ने करीब दो हफ्ते पहले एयरपोर्ट मेन गेट पर विशेष बलों की एक यूनिट तैनात की थी जो एयरपोर्ट की सुरक्षा और तकनीकी जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार थे.

ये भी पढ़ें:- लग्‍जरी लाइफ देने वाले शुक्र इन 2 राशियों पर होंगे मेहरबान, क्‍या आप भी हैं शामिल? 

26 अगस्त को हुआ था हमला

यूएस ने तालिबान को एयरपोर्ट के गेट का नियंत्रण ऐसे समय पर सौंपा है, जब कुछ दिन पहले 26 अगस्त को ISIS-K आतंकवादियों ने सुविधा के पूर्वी गेट पर आत्मघाती हमला किया था, जिसमें 170 अफगान और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए थे. इससे पहले तालिबान के एक अधिकारी ने कथित तौर पर कहा था कि समूह के विशेष बल, और तकनीकी पेशेवरों और योग्य इंजीनियरों की एक टीम अमेरिकी बलों के जाने के बाद एयरपोर्ट के सभी चार्ज लेने के लिए तैयार हैं.

ये भी पढ़ें:- अय्याशी का अड्डा बना कोविड सेंटर, खुलेआम ड्रग्स लेकर सेक्स करते हैं पेशेंट्स!

दर्जनों विमानों ने भरी उड़ान

वहीं, शनिवार देर रात सैन्य विमानों समेत दर्जनों विमानों ने एयरपोर्ट से उड़ान भरी. 15 अगस्त को तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद से काबुल पहले हवाई अड्डे पर तैनात किए गए लगभग 6,000 अमेरिकी और गठबंधन बलों सहित अफगान विशेष बलों की एक इकाई को कथित तौर पर खाली कर दिया गया था. राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा निर्धारित समय सीमा के अनुसार, सभी अमेरिकी और गठबंधन बलों के 31 अगस्त को देश छोड़ने की उम्मीद है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.