ब्यूटी क्लीनिक ने बनाए अनोखे मास्क, वायरस से बचाव के साथ मिलेगी खूबसूरती भी!

इस मास्क की खास बात ये है कि इसमें सुरक्षित रखने वाली पट्टी बाकी मास्क की तुलना में पतली है. वो इसलिए जिससे कि ज्यादा से ज्यादा चेहरा खुला रह सके ताकि डॉक्टर नाक और मुंह के संपर्क में आए बिना ही चेहरे पर प्रोसीजर कर सकें. 

ब्यूटी क्लीनिक ने बनाए अनोखे मास्क, वायरस से बचाव के साथ मिलेगी खूबसूरती भी!
संक्रमण से बचाव के साथ चेहरे पर ट्रीटमेंट भी हो सकेगा..

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के कारण सोशल डिस्टेंसिंग के चलते कई सैलून और ब्यूटी क्लीनिक अभी भी बंद हैं, क्योंकि यहीं लोगों के बीच संपर्क सबसे ज्यादा होता है. हालांकि इस समस्या का भी तोड़ निकाल लिया गया है. बैंकॉक के एक थाई ब्यूटी कलीनिक ने एक 'मिनी' फेस मास्क (Face Mask) बनाया है, जिससे डॉक्टर का संपर्क कस्टमर के नाक और मुंह से कम से कम हो सके, इस मास्क को पहने-पहने ही ब्यूटी प्रोसीजर किए जा सकते हैं. 

थाईलैंड अब वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिबंधों में छूट देने के तीसरे फेज में है, जिसमें कारोबार को दोबारा शुरू करने के लिए ब्यूटी क्लीनिकों को भी हरी झंड़ी दे दी गई है. इस मास्क की खास बात ये है कि इसमें सुरक्षित रखने वाली पट्टी बाकी मास्क की तुलना में पतली है. वो इसलिए जिससे कि ज्यादा से ज्यादा चेहरा खुला रह सके ताकि डॉक्टर नाक और मुंह के संपर्क में आए बिना ही चेहरे पर प्रोसीजर कर सकें.  

ये भी देखें-

क्लीनिक के मार्केटिंग अधिकारी विसारुत क्रिमथुन्थोंग का कहना है कि-'ये मास्क बहुत सारी परतों से मिलकर बना है, जो कोविड-19 रोग से बचाने में सक्षम है.' 

क्लीनिक में ये मास्क बेचे नहीं जाते. उनके पास करीब 100 मास्क हैं जिन्हें वो साफ करके फिर से उपयोग करते हैं. उनहोंने कहा कि- 'हम इन मास्क के दूसरे वर्जन बनाने के बारे में भी विचार कर रहे हैं, जिससे नाक का एक भाग कवर किया जा सके ताकि डॉक्टर बिना मास्क उतारे ही नाक का ट्रीटमेंट भी कर सकें.'

मंगलवार को क्लीनिक में लेजर ट्रीटमेंट के लिए आईं कस्टमर कनिका सेई गो ने कहा- 'पहले तो मुझ ये अजीब लगा, लेकिन असल में ये बहुत अच्छा है क्योंकि इसे खास तौर पर फेशियल ट्रीटमेंट के दौरान हमें सुरक्षित रखने के लिए ही डिजाइन किया गया है.'

वायरस से बचने के लिए और भी इंतजाम किए गए हैं. जैसे रोजाना आने वाले कस्टमर की संख्या में कमी की गई है. जहां पहले एक दिन में 100 कस्टमर आते थे, जिन्हें 15 कर दिया गया है. साथ ही तापमान की जांच आदि की भी व्यवस्था की गई है. यह उपचार के दौरान एक प्लास्टिक शील्ड का भी इस्तमाल कर रहे हैं और क्लीनिक के कुछ काम ऑनलाइन कर दिए गए हैं.

क्लीनिक के संस्थापक डॉ. वालीरत थावीबेन्चोंग्सिन कहते हैं- 'इससे ग्राहकों के करीब एक घंटे का समय बचता है जो पहले उन्हें यहां आकर बिताना पड़ता था.'

दक्षिण पूर्व एशियाई देश थाईलैंड में 3,000 से ज्यादा लोग COVID-19 से संक्रमित हुए हैं और वायरस से 58 मौतें हुई हैं. लेकिन यहां पिछले एक सप्ताह से कोई भी स्थानीय प्रसार नहीं देखा गया. जिससे प्रतिबंधों में छूट दी जा रही है और जीवन सामान्य की तरफ बढ़ रहा है.