ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध के आदेश पर अमेरिका सहित पूरे यूरोप में विरोध-प्रदर्शन

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध पर तीखे अदालती संघर्ष के बीच इस प्रतिबंध के विरोध में लंदन और पेरिस से लेकर न्यूयार्क और वाशिंगटन की सड़कों पर हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर उमड़ पड़े।

ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध के आदेश पर अमेरिका सहित पूरे यूरोप में विरोध-प्रदर्शन

न्यूयार्क : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध पर तीखे अदालती संघर्ष के बीच इस प्रतिबंध के विरोध में लंदन और पेरिस से लेकर न्यूयार्क और वाशिंगटन की सड़कों पर हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर उमड़ पड़े।

प्रतिबंध के विरोध में अब तक का सबसे बड़ा प्रदर्शन लंदन में हुआ, जहां करीब 10,000 लोगों ने हिस्सा लिया। ट्रंप के प्रति ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे के समर्थन से नाराज प्रदर्शनकारी ‘टेरीजा मे : शेम ऑन यू’ का नारा लगा रहे थे।

‘मुसलमानों को बलि का बकरा नहीं बनाओ’ और ‘ट्रंपवाद नहीं, समाजवाद’ जैसे नारे वाली तख्तियां हाथों में लिए प्रदर्शनकारियों ने अमेरिकी दूतावास से मे के डाउनिंग स्ट्रीट कार्यालय की तरफ मार्च निकाला।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने 27 जनवरी के अपने शासकीय आदेश में सात मुस्लिम बहुल देशों: ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के नागरिकों के अमेरिका आने पर 90 दिनों के लिए रोक लगा दी थी।

न्यूयॉर्क में भी कल ट्रंप के आदेश के खिलाफ 3,000 लोगों ने प्रदर्शन किया। कार्यकर्ता और समर्थक ऐतिहासिक स्टोनवॉल इन के बाहर जमा होकर प्रदर्शन कर रहे थे।

सीनेट में डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता चार्ल्स शूमर ने प्रदर्शकारियों का नेतृत्व कया। प्रदर्शनकारी अमेरिकी झंडों के साथ ही रंगबिरंगे झंडे हाथों में ले रखे थे।

वहीं वाशिंगटन में लोगों ने एकजुटता दिखाने के लिए व्हाइट हाउस से लेकर कैपिटोल हिल तक प्रदर्शन किया।

ब्रिटेन में 18 लाख लोगों ने एक याचिका पर हस्ताक्षर किया। इस याचिका में कहा गया है कि ट्रंप को आधिकारिक यात्रा पर नहीं बुलाया जाना चाहिए क्योंकि इससे महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अपमान होगा। यूरोप में करीब 1,000 लोगों ने पेरिस और बर्लिन की सड़कों पर विरोध प्रदर्शन किया।