जापान में भारी बर्फबारी, 180 लोग घायल, चरमराई यातायात व्यवस्था

टोक्यो में बर्फ की मोटी चादर बिछ गई, जिसकी वजह से हजारों यात्री रास्ते में फंसे रहे और दर्जनों घायल हो गए. सार्वजनिक यातायात भी इस स्थिति की वजह से चरमरा गया. 

जापान में भारी बर्फबारी, 180 लोग घायल, चरमराई यातायात व्यवस्था
2014 के बाद जापान में यह सबसे बड़ा हिमपात है

टोक्यो : जापान की राजधानी तोक्यो में आज दुर्लभ रूप से बर्फ की मोटी चादर बिछ गई, जिसकी वजह से हजारों यात्री रास्ते में फंसे रहे और दर्जनों घायल हो गए. सार्वजनिक यातायात भी इस स्थिति की वजह से चरमरा गया. जापान मौसम एजेंसी ने टोक्यो के कुछ हिस्सों में 23 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की है जो कि फरवरी, 2014 के बाद से अब तक की सबसे बड़ी बर्फबारी है.

700 रोड एक्सीडेंट
मंगलवार को मौसम से यातायात काफी प्रभावित रहा. दुनिया के सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले शहरों में से एक टोक्यो में लाखों लोगों को अपने घरों तक पहुंचने में खासी मश्क्कत करनी पड़ी. सार्वजनिक प्रसारणकर्ता एनएचके ने बताया कि कम से कम 180 लोगों को इस बर्फ जमी हुई सड़क पर चोटे आई हैं और करीब 700 यातायात दुर्घटनाएं हुई हैं. यहां हर जगह सफेद बर्फ की मोटी परत बिछ गई है. पेड़, सड़क, मकान आदि बर्फ से ढक गए हैं.

Japan
भारी बर्फबारी के चलते जापान के कई हिस्सों में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई है

ज्वालामुखी भड़कने से हुआ हिमपात
यहां से पश्चिमोत्तर में मंगलवार को एक ज्वालामुखी में विस्फोट हो गया जिससे आसपास हिमस्खलन शुरू हो गया है. इस विस्फोट में 15 लोग घायल हो गए, जबकि चार हिमस्खलन की चपेट में आ गए. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बचाव कार्य में शामिल एक दमकलकर्मी ने बताया कि गुनमा के माउंट कुसात्सू-शिराने ज्वालामुखी में विस्फोट होने से पास के कुसात्सू-माची इंटरनेशनल स्की रिसॉर्ट इलाके में हिमस्खलन हो गया. 

जापान में भारी बर्फबारी के बाद बीच में रास्ते में रुकी ट्रेन, रात भर फंसे रहे 430 लोग

भूकंप के झटके
जापान मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) ने कहा कि शुरू में ज्वालामुखी के दक्षिण की ओर से धुआं उठता देखा गया था और उच्च तीव्रता वाले भूकंप के झटके भी दर्ज हुए. इसके बाद ज्वालामुखी के आसपास के पहाड़ों से चट्टानें गिरने लगीं. जेएमए ने माउंट कुसात्सू शिराने के लिए तीन स्तरीय चेतावनी जारी की है. भारी बर्फबारी के चलते टोक्यो की यातायात व्यवस्था चरमरा गई है. यहां से उड़ने वाली सभी उड़ानों के रद्द कर दिया गया है. रेल की पटरियों तथा सड़कों पर बर्फ जमी हुई है. ट्रेनों के संचालन को भी कैंसिल करना पड़ा है.

(इनपुट एजेंसियों से)