पाकिस्तान चुनाव: ट्रांसजेंडर्स को वोट डालने से रोका गया

इस बार चार ट्रांसजेंडर उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

पाकिस्तान चुनाव: ट्रांसजेंडर्स को वोट डालने से रोका गया
पाकिस्‍तान में 25 जुलाई को आम चुनाव हुए.(फोटो: रायटर्स)

लाहौर: पाकिस्तान के राजनीतिक इतिहास में पहली बार निर्वाचन आयोग ने ट्रांसजेंडर समुदाय के सदस्यों के मतदान के दौरान 'पर्यवेक्षकों' की तैनाती की लेकिन बुधवार को लाहौर में उन्हें वोट डालने की इजाजत नहीं दी गई. डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, "ऐसी खबरें हैं कि लाहौर में पुरुष मतदान केंद्रों पर ट्रांसजेंडर समुदाय के सदस्यों को वोट डालने नहीं दिया गया."

पाकिस्तान के 11वें आम चुनाव में ट्रांसजेंडर समुदाय के सदस्य न केवल मत डाल रहे हैं, बल्कि चुनाव भी लड़ रहे हैं. इस बार चार ट्रांसजेंडर उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इस चुनाव में 13 ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों ने राष्ट्रीय और प्रांतीय असेंबली के लिए अपना नामांकन पत्र भरा था लेकिन इनमें से नौ को फंड की कमी की वजह से अपना नामांकन वापस लेना पड़ा.

पाकिस्तान चुनाव LIVE: मतदान के दौरान बम ब्लास्ट में 31 की मौत,हाफिज सईद ने डाला वोट

पाकिस्तान में हो रहे आम चुनाव में सुरक्षा के मद्देनजर 3,70,000 से अधिक सैनिकों को तैनात किया गया है. देश के इतिहास में यह चुनाव के दिन अब तक की सर्वाधिक सैन्य तैनाती है.  पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि वह 25 जुलाई को चुनाव के दिन 85,000 मतदान केन्द्रों में 3,71,388 सैनिकों को तैनात करेगी. देश के इतिहास में किसी भी चुनाव में यह सैनिकों की सर्वाधिक तैनाती होगी.

पाकिस्तान चुनाव: निर्वाचन आयोग इमरान, शाहबाज के खिलाफ कर सकता है कार्रवाई

सेना ने एक बयान में कहा, ‘‘देश भर में सैनिकों को तैनात करने का कार्य पूरा हो गया है.’’ सुरक्षा बलों ने आगाह किया है कि मुख्यधारा के राजनीतिक दलों के नेताओं तथा कुछ उम्मीदवारों की सुरक्षा को गंभीर खतरा है. गौरतलब है कि देश में चुनाव प्रचार और उम्मीदवारों को निशाना बनाते हुए अनेक आंतकवादी हमले हुए हैं. इनमें बलूचिस्तान प्रांत में 13 जुलाई को हुआ हमला भी शामिल हैं जिसमें 151 लोग मारे गए थे.

(इनपुट: एजेंसी आईएएनएस)