ट्रंप ने दूसरी बार चीन के राष्ट्रपति चुने जाने पर शी चिनफिंग को दी बधाई

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चीनी समकक्ष शी चिनफिंग को दूसरी बार राष्ट्रपति तथा सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का प्रमुख चुने जाने पर बधाई दी हैं ट्रंप ने शी से फोन पर बात करने के बाद ट्वीट कर यह जानकारी दी. 

ट्रंप ने दूसरी बार चीन के राष्ट्रपति चुने जाने पर शी चिनफिंग को दी बधाई
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (फाइल फोटो)

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चीनी समकक्ष शी चिनफिंग को दूसरी बार राष्ट्रपति तथा सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का प्रमुख चुने जाने पर बधाई दी हैं ट्रंप ने शी से फोन पर बात करने के बाद ट्वीट कर यह जानकारी दी. उन्होंने लिखा कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से उन्हें उनकी असाधारण सफलता पर बधाई देने के लिए बात की. उत्तर कोरिया और व्यापार जैसे दो बेहद महत्वपूर्ण विषयों पर भी उनसे बात की. यह फोन कॉल ऐसे समय में किया गया, जब शी ने औपचारिक रूप से दूसरी बार राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभाला है और उनके विचार पार्टी के संविधान में लिखे गए हैं.

यह भी पढ़े- दूसरी बार शी चिनफिंग चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख बने

इस जीत ने उन्हें देश के संस्थापक माओ त्से-तुंग के बराबर ला खड़ा कर दिया है. वह दूसरी बार सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख भी चुने गए हैं. चयन के लिए आयोजित पार्टी की इस बैठक में चीनी नेता के निर्णयों ने उन अटकलों को और हवा दी जिसमें कहा जा रहा था कि अपने उत्तराधिकारी का चयन न कर वह कब तक पार्टी के प्रमुख पद पर बने रहेंगे. 

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के अनुसार, शी ने चीन-अमेरिकी संबंधों के भविष्य के विकास का संयुक्त रूप से खाका तैयार करने के लिए ट्रंप के साथ काम करने की इच्छा जाहिर की है. ट्रंप के अगले माह की शुरुआत में चीन यात्रा के दौरान शी से मिलने की संभावना है.

अमेरिकी राष्ट्रपति का यह दौरा उनकी एशिया यात्रा का हिस्सा होगा, जो प्रमुख रूप से उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम से उत्पन्न होने वाली चिंताओं पर केंद्रित हो सकता है. ट्रंप प्रशासन का मानना है कि देंग शियोपिंग के बाद शी चीन के शक्तिशाली नेता के रूप में उभरे हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति के एक वरिष्ठ सहायक ने बताया कि राष्ट्रपति के शी चिनफिंग के साथ बहुत अच्छे संबंध रहे हैं.  वह उन रिश्तों को आगे बढ़ाना चाहते हैं जिन्हें ट्रंप ने रचनात्मक एवं परिणामोन्मुखी करार दिया है.