close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

खाड़ी में हथियारों की बिक्री को लेकर ईरान ने अमेरिका के बारे में कही यह बात

जरीफ ने सोमवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और सऊदी अरब के हथियार पर खर्च का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साल इस क्षेत्र में 50 अरब अमरीकी डॉलर के अमेरिकी हथियार (बेचे गए) थे.

खाड़ी में हथियारों की बिक्री को लेकर ईरान ने अमेरिका के बारे में कही यह बात
फोटो साभार रॉयटर्स

तेहरान: ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा है कि कुछ क्षेत्रीय देशों में अमेरिकी हथियारों की बिक्री ने खाड़ी क्षेत्र को 'फटने के लिए तैयार टिंडरबॉक्स' में बदल दिया है. प्रेस टीवी ने यह जानकारी दी. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, जरीफ ने सोमवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और सऊदी अरब के हथियार पर खर्च का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साल इस क्षेत्र में 50 अरब अमरीकी डॉलर के अमेरिकी हथियार (बेचे गए) थे.

प्रेस टीवी ने जरीफ के हवाले से कहा, "अगर आप क्षेत्र से आने वाले खतरों के बारे में बात कर रहे हैं, तो अमेरिका और उसके सहयोगियों की ओर से खतरा आ रहा है, जो इस क्षेत्र में हथियार भेज रहे हैं और इसे फटने के लिए तैयार टिडरबॉक्स बना रहे हैं. उन्होंने 'सैन्य क्षेत्र में सुरक्षा को बढ़ावा देने' के नाम पर एक समुद्री सैन्य गठबंधन बनाने के लिए अमेरिकी कदम की भी निंदा की. 

उन्होंने कहा, "क्षेत्र में अधिक युद्धपोतों की उपस्थिति केवल अधिक असुरक्षा का कारण बनेगी." 

अमेरिका और उसके सहयोगियों ने इस क्षेत्र में ईरान के बढ़ते प्रभाव के बारे में चिंता व्यक्त की है. हाल ही में अमेरिका ने खाड़ी में अपने सहयोगी देशों के क्षेत्रों में अधिक सैनिकों, युद्धपोतों और हमलावरों को तैनात किया है और एक समुद्री सैन्य गठबंधन के गठन का आह्वान किया है.