कड़ी सुरक्षा के बीच ब्रिटेन के आम चुनाव के लिये मतदान शुरू

कड़ी सुरक्षा के बीच ब्रिटेन के आम चुनाव के लिये मतदान शुरू
कड़ी सुरक्षा के बीच ब्रिटेन के आम चुनाव के लिये मतदान शुरू (file photo)

लंदनः ब्रिटेन में आज (गुरुवार को) संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कामंस के लिये मतदान हो रहा है जिसमें प्रधानमंत्री टेरीजा मे और विपक्ष के नेता जेर्मी कॉबिर्न के बीच बेहद कड़ा मुकाबला है. इस्लामिक आतंकियों द्वारा किये गये दो आतंकी हमलों में 30 लोगों की मौत के बाद हो रहे आम चुनाव के लिये सुरक्षा के बेहद सख्त इंतजाम किये गये हैं.  इसके लिए ब्रिटेन में 40,000 से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोट डाले जा रहे हैं. इन चुनावों में कुल 650 सांसद चुने जायेंगे. भारतीय मूल के 15 लाख मतदाताओं समेत करीब 4.6 करोड़ से ज्यादा मतदाता इन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे.

टेरीजा में (60) ने निर्धारित समय से तीन साल पहले ही चुनावों का आह्वान कर दिया था. उन्होंने 28 सदस्यों वाले यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के निकलने से जुड़ी पेचीदा बातचीत से पहले ही इन चुनावों को करवा लिया है. ब्रिटेन में पिछली बार 2015 में आमचुनाव में तत्कालीन प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने 331 सांसदों के साथ कंजरवेटिव पार्टी के लिये बहुमत हासिल किया था. इसके बाद जून 2016 में यूरोपीय संघ में ब्रिटेन की सदस्यता के लिये हुये जनमत संग्रह कराया गया जिसमें ब्रिटेन ने अलग होने का फैसला किया. ब्रेग्जिट की वजह से कैमरून ने पिछले साल इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद कंजरवेटिव पार्टी ने मे का चयन अपने नेता के तौर पर किया था.

पिछले तीन सालों में ब्रिटेन में यह चौथा बड़ा चुनाव है. इससे पहले वर्ष 2014 में स्कॉटलैंड की स्वतंत्रता के लिए जनमत संग्रह हुआ था, वर्ष 2015 में आम चुनाव हुआ था और वर्ष 2016 में ब्रेग्जिट के मुद्दे पर मतदान हुआ था. 
हाल के आतंकी हमलों के बाद पुलिस ने मतदान केंद्रों पर सुरक्षा बढ़ा दी है. कुछ इलाकों में सशस्त्र अधिकारी गश्त कर रहे हैं. ब्रिटेन के नेशनल काउंटर टैररिज्म पुलिसिंग के मुख्यालय के प्रवक्ता ने कहा कि स्थानीय पुलिस बल मतदान केंद्रों के आसपास की सुरक्षा की लगातार समीक्षा कर रहा है.

चुनाव अभियान के दौरान दो बड़े आतंकी हमले हुये- 22 मई को मैनचेस्टर में आत्मघाती बम धमाके में 22 लोगों की मौत हुई और लंदन ब्रिज पर तीन आतंकवादियों ने मारे जाने से पूर्व एक गाड़ी से कुचलकर और चाकू से हमला कर आठ लोगों की जान ले ली. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इन हमलों की जिम्मेदारी ली है तथा और हमले करने की चेतावनी भी दी है.

दोनों ही हमलों के वक्त राजनीतिक दलों ने प्रचार अभियान रोकने का आह्वान किया था लेकिन प्रधानमंत्री मे ने कहा कि आतंकवाद को लोकतांत्रिक प्रक्रिया को पटरी से उतारने की इजाजत किसी हाल में नहीं दी जा सकती. टेरीजा मे ने ब्रिटेन के निश्चित अवधि संसदीय कानून को पलट दिया, जिसके होने पर पांच साल के तय वक्त के बाद 2020 में आम चुनाव होने थे, और समय से पहले आम चुनावों का आह्वान किया.

बहुमत के लिये किसी पार्टी को कम से कम 326 सीटें जीतनीं जरूरी

हाउस ऑफ कामंस में बहुमत के लिये किसी पार्टी को कम से कम 326 सीटें जीतनीं जरूरी हैं. स्थानीय समय के मुताबिक रात 10 बजे (भारतीय समयानुसार कल तड़के ढाई बजे) मतदान खत्म होगा. ॉआज के चुनाव के पहले नतीजे स्थानीय समयानुसार मध्यरात्रि तक आने की उम्मीद है जबकि अंतिम नतीजे कल दोपहर तक घोषित होगा. इस बार बहुत से लोगों ने डाक के जरिये अपना वोट डाला. 2015 के आम चुनावों में यहां कुल 16.4 फीसदी मतदाताओं ने डाक से वोट डाला था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.