इस देश में भी हो रहे चुनाव, अपना मतपत्र दिखाने पर राष्ट्रपति पर लगा 32 डॉलर का जुर्माना

यूक्रेन के राष्ट्रपति बनने जा रहे वोलोदिमिर जेलेंस्की को चुनाव के दिन टीवी मीडियाकर्मियों और छायाकारों को अपना मतपत्र दिखाने के मामले में जुर्माना लगाया गया है.

इस देश में भी हो रहे चुनाव, अपना मतपत्र दिखाने पर राष्ट्रपति पर लगा 32 डॉलर का जुर्माना
वोलोदिमिर जेलेंस्की के इस महीने के आखिर में यूक्रेन के राष्‍ट्रपति पद की शपथ लेने की संभावना है. (फोटो: Reuters)

मॉस्को: यूक्रेन के राष्ट्रपति बनने जा रहे वोलोदिमिर जेलेंस्की को चुनाव के दिन टीवी मीडियाकर्मियों और छायाकारों को अपना मतपत्र दिखाने के मामले में जुर्माना लगाया गया है. राजधानी कीव की एक स्थानीय अदालत ने मतदान की गोपनीयता की रक्षा करने वाले चुनावी कानून को तोड़ने के लिए सोमवार को लोकप्रिय हास्य कलाकार जेलेंस्की पर 850 हरयवनास (32 अमेरिकी डॉलर) का जुर्माना लगाया.

अदालत ने बताया कि जेलेंस्की ने अपराध स्वीकार किया है. वह अदालत में उपस्थित नहीं थे. जेलेंस्की ने अपने नाम के आगे टिक का निशान लगे मतपत्र को गिराने से पहले पत्रकारों को दिखाया था, जिस पर उनके प्रतिद्वंद्वियों ने काफी हंगामा किया था. वोलोदिमिर जेलेंस्की के इस महीने के आखिर में शपथ लेने की संभावना है.

एक कॉमेडियन जो टीवी पर प्रेसिडेंट का निभाता था किरदार, अब इस देश का बना राष्ट्रपति

वोलोदिमिर जेलेंस्की
यूक्रेन में बदलाव के वादे के साथ हास्य अभिनेता वोलोदिमीर जेलेंस्की ने अप्रैल में राष्ट्रपति का चुनाव जीत तो लिया है लेकिन इस बात की रूपरेखा अभी स्पष्ट नहीं है कि बतौर नेता वह क्या कर सकते हैं. जेलेंस्की (41) ने चुनाव में वर्तमान राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको को हराया. इसे सत्ता प्रतिष्ठान के लिये बड़ा झटका माना जा रहा है. बताया जाता है कि लोग युद्ध और सामाजिक अन्याय को लेकर नाराज थे. तकरीबन पूर्ण आधिकारिक परिणाम के अनुसार हास्य अभिनेता ने 73 फीसदी वोट हासिल किये और अब लोगों में भविष्य को लेकर बड़ी उम्मीद और आतुरता है.

राजनीतिक भूमिका के तौर पर जेलेंस्की बस एक टीवी शो में राष्ट्रपति का किरदार निभा चुके हैं. टीवी सीरीज ‘सर्वेंट ऑफ पीपुल’ के स्टार और उसके तीसरे संस्करण में नजर आ रहे जेलेंस्की ने अपने पूर्ववर्ती के यूरोपीय समर्थक मार्ग पर चलने का निश्चय प्रकट किया है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि वह चिर प्रतिद्वंद्वी रूस के साथ भी संबंध सुधारने का प्रयास करेंगे.

पोरोशेंको को महज 24.4 फीसद वोट ही मिले और वह हास्य अभिनेता से हार गये. जेलेंस्की ने कहा, ‘‘मैं कभी आपको शर्मिंदा नहीं होने दूंगा. मैं सोवियत काल के बाद के सभी देशों से कह सकता हूं कि हमें देखिए, हर चीज संभव है. ’’ यह बयान पड़ोसी देश रूस को लक्षित कर दिया गया जान पड़ता है जहां ब्लादिमीर पुतिन 20 साल से सत्ता में हैं. 

रूस ने कहा है कि उसे नये नेता से एक मौका नजर आता है. रूसी प्रधानमंत्री दमित्री मेदवेदेव ने कहा कि यह संबंध सुधारने का एक मौका है. हालांकि, रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की है. यूक्रेन और पश्चिमी देश रूस पर यूक्रेन में अलगाववाद को सुलगाने का आरोप लगाते हैं.

(इनपुट: एजेंसी एपी से भी)