close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

संयुक्त राष्ट्र का दावा, अफगानिस्तान में पिछले छह महीने में मारे गए 1366 लोग

अफगानिस्तान को लड़ाई का नुकसान किस तरह झेलना पड़ रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 2019 की पहली छमाही तक यहां 1,366 लोग को अपनी जान गंवानी पड़ी. 

संयुक्त राष्ट्र का दावा, अफगानिस्तान में पिछले छह महीने में मारे गए 1366 लोग
(फाइल फोटो)

काबुल: अफगानिस्तान को लड़ाई का नुकसान किस तरह झेलना पड़ रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 2019 की पहली छमाही तक यहां 1,366 लोग को अपनी जान गंवानी पड़ी और 2,446 घायल लोगों का इलाज चल रहा है. संयुक्त राष्ट्र (यूएन) मिशन ने मंगलवार को यह जानकारी दी. यूएन असिस्टेंट मिशन इन अफगानिस्तान (यूएनएएमए) द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, 2018 के मुकाबले 2019 की पहली छमाही में हताहतों की संख्या में 27 प्रतिशत की कमी देखने को मिली, जो कि एक रिकॉर्ड है.

यूएन असिस्टेंट मिशन इन अफगानिस्तान ने एक बयान जारी कर एक ओर जहां एक जनवरी से 30 जून तक नागरिकों के हताहत होने की संख्या में कमी आने का स्वागत किया, तो वहीं दूसरी ओर नागरिकों को होने वाले नुकसान के स्तर को चौंकाने वाला और अस्वीकार्य बताया.

यूएन के विशेष दूत ओर यूएन असिस्टेंट मिशन इन अफगानिस्तान के प्रमुख तादामिची यामामोटो ने कहा, "दोहा वार्ता में अफगान प्रतिनिधियों के संदेश 'नागरिक हताहतों की संख्या को शून्य तक कम करें!' को सभी ने जोर से और स्पष्ट रूप से सुना." उन्होंने कहा, "हम सभी पक्षों से आग्रह करते हैं कि इस अनिवार्यता पर ध्यान दें, भयानक रूप से हो रहे नुकसान से बचने और इसे कम करने के लिए अफगानों के आह्वान का जवाब दें."