संयुक्त राष्ट्र का सीरिया में संघर्ष में कमी लाने का आह्वान, इजरायल ने किया था ईरानी ठिकानों पर हमला

इजरायल ने अपनी वायुसीमा में एक ईरानी ड्रोन के प्रवेश पर यह कार्रवाई की. गुतारेस ने कहा कि सीरिया और क्षेत्र में सभी संबंधित पक्षों को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन करना चाहिये.

संयुक्त राष्ट्र का सीरिया में संघर्ष में कमी लाने का आह्वान, इजरायल ने किया था ईरानी ठिकानों पर हमला
संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस. (फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने इजरायल द्वारा सीरिया में हाल में किये गये हमलों के बाद वहां संघर्ष में फौरन कमी लाने का  आह्वान किया है. संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने एक बयान में कहा कि गुतारेस ‘‘पूरे सीरिया में खतरनाक सैन्य आक्रमकता और उसकी सीमाओं पर इससे पड़ने वाले असर पर करीबी  नजर बनाए हुए हैं.’’ सीरियाई वायुरक्षा प्रणाली द्वारा अपने एक विमान को मार गिराये जाने के बाद इजरायल ने सीरिया में ईरानी ठिकाने वाले इलाकों को निशाना बनाया.

इजरायल ने अपनी वायुसीमा में एक ईरानी ड्रोन के प्रवेश पर यह कार्रवाई की. गुतारेस ने कहा कि सीरिया और क्षेत्र में सभी संबंधित पक्षों को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन करना चाहिये. दुजारिक ने कहा, ‘‘उन्होंने सभी से बिना शर्त हिंसा रोकने और संयम बरतने की दिशा में तत्काल काम करने का आह्वान किया है.’’

मिडिल ईस्ट में PM मोदी करते रहे शांति की अपील, इजरायल ने सीरिया पर किया 30 साल में सबसे बड़ा हमला

इजरायल का एक लड़ाकू विमान सीरिया में कुछ ईरानी ठिकानों पर हमला करने के दौरान सीरियाई हवाई रक्षा प्रणाली के निशाने पर आने के बाद बीते 10 फरवरी को दुर्घटनाग्रस्त हो गया. दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी सीरिया में 2011 से गृह युद्ध शुरू होने के बाद से चिर प्रतिद्वंद्वी इस्राइल और ईरान के बीच सबसे गंभीर है. सीरिया में गृह युद्ध शुरू होने के बाद से इस्राइल ने पहली बार वहां ईरानी ठिकानों पर हमला करने की बात स्वीकार की है.

इजरायली सेना ने तेहरान को चेतावनी जारी की. उसने कहा कि इजरायल में घुसने वाले ड्रोन के लिये वह जिम्मेदार है. इजरायल ने पड़ोसी सीरिया में ईरानी बलों की मौजूदगी के खिलाफ हाल के हफ्तों में बार-बार चेतावनी जारी की है.दुर्घटनाग्रस्त एफ-16 के पायलट कथित तौर पर जीवित हैं. इजरायल की सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जोनथन कोनरिकस ने ट्वीट किया, ‘‘आईडीएफ (इस्राइली सुरक्षाबल) ने सीरिया में ईरानी नियंत्रण प्रणाली को निशाना बनाया, जिसने इजरायली हवाई सीमा में यूएवी (ड्रोन) भेजा था. सीरिया की ओर से विमान को मार गिराने के लिए किये गए हमलों में इस्राइल का एक एफ-16 दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित.’’

सेना द्वारा जारी एक अलग वक्तव्य के अनुसार इजरायली बलों ने सीरिया से छोड़े गए एक ‘ईरानी यूएवी’ की पहचान की है और एक लड़ाकू हेलिकॉप्टर से इजरायली हवाई क्षेत्र में उसे रोका गया. पुलिस ने बताया कि एफ-16 उत्तरी इजरायल के जेजरील में दुर्घटनाग्रस्त हुआ. वक्तव्य में कहा गया, ‘‘हमले के दौरान आईएएफ (इजरायली वायु सेना) के विमान पर कई एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइलें दागीं गईं.’’ वक्तव्य में कहा गया, ‘‘पायलटों में से एक ने प्रक्रिया के अनुसार विमान को छोड़ दिया. पायलट इजरायली भूभाग में उतरा और उसे उपचार के लिये अस्पताल ले जाया गया.’’