पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में अलापा कश्मीर राग, कहा- न्याय के बगैर नहीं मिल सकती शांति

मलीहा ने कहा, ‘‘परिषद को अपनी कार्रवाइयों में और अधिक दृढ़ता और पक्षपात रहित होने की आवश्यकता है.'

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में अलापा कश्मीर राग, कहा- न्याय के बगैर नहीं मिल सकती शांति
संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की दूत मलीहा लोधी. (फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र: पाकिस्तान ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) को विशेषकर लंबे समय से जारी ‘‘विवादों’’ जैसे कि जम्मू कश्मीर एवं फिलिस्तीन के संबंध में अपने प्रस्तावों को लागू करने में निश्चित रूप से चयनात्मक रवैया खत्म करना चाहिए. संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की दूत मलीहा लोधी ने पिछले सप्ताह ‘अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को बनाये रखने के संदर्भ में अंतरराष्ट्रीय कानून का समर्थन’ विषय पर आयोजित सुरक्षा परिषद की चर्चा के दौरान यह टिप्पणी की.

पाकिस्तान ने उठाया कश्मीर का मुद्दा
मलीहा ने कहा, ‘‘परिषद को अपनी कार्रवाइयों में और अधिक दृढ़ता और पक्षपात रहित होने की आवश्यकता है. प्रस्तावों एवं फैसलों विशेषकर लंबे समय से चल रहे विवादों जैसे कि जम्मू कश्मीर एवं फिलिस्तीन के मामले में इन्हें लागू करने में चयनात्मक रवैया निश्चित तौर पर खत्म किया जाना चाहिए. आखिरकार न्याय के बगैर शांति नहीं मिल सकती.’’ मलीहा एवं पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल लगातार संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न मंचों पर कश्मीर मुद्दा उठाते रहे हैं.

कश्मीरी जनता के खिलाफ मानवाधिकार उल्लंघन का मुद्दा
इससे पहले पाकिस्तान के प्रतिनिधि मसूद अनवर ने भी कमिटी ऑन इनफॉर्मेशन के सत्र को संबोधित करते हुए जम्मू कश्मीर में कश्मीरी जनता के खिलाफ कथित मानवाधिकार उल्लंघन के मुद्दे को उठाया था. हालांकि भारत ने कश्मीर के संदर्भ में अनवर के संदर्भ को दृढ़ता से खारिज किया.