close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत-अमेरिकी संबंधों में नई गति दिखाती है ओबामा-मोदी की मुलाकात: अमेरिकी राजदूत

भारत में अमेरिका के शीर्ष राजनयिक ने दोनों देशों के प्रमुख नेताओं की सोमवार को होने वाली बैठक से पहले कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के बीच तीसरी आमने-सामने की वार्ता से विश्व के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच गतिशीलता में नयापन आया है।

भारत-अमेरिकी संबंधों में नई गति दिखाती है ओबामा-मोदी की मुलाकात: अमेरिकी राजदूत

सैन होज़: भारत में अमेरिका के शीर्ष राजनयिक ने दोनों देशों के प्रमुख नेताओं की सोमवार को होने वाली बैठक से पहले कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के बीच तीसरी आमने-सामने की वार्ता से विश्व के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच गतिशीलता में नयापन आया है।

भारत में अमेरिका के राजदूत रिचर्ड वर्मा ने शुक्रवार को कहा कि ओबामा को अगले सप्ताह न्यू यॉर्क में मोदी के साथ होने वाली अपनी बैठक का बहुत इंतजार है। उन्होंने कहा कि इस साल में जब राष्ट्रपति भारत गए, उसके बाद से दोनों देशों का रिश्ता रणनीतिक, आर्थिक और स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में बहुत अधिक विस्तृत, गहरा और व्यापक हुआ है।

वर्मा ने कहा कि एक साल में ओबामा और मोदी की बैठक संबंधों का महत्व और दोनों देशों की ओर से इस संबंध में डाले जाने वाले मूल्यों को दर्शाती है। इस बैठक ने एक तरह से द्विपक्षीय संबंधों में गतिशीलता का नवीकरण किया है और हमारे बीच, (सरकार के प्रमुखों के बीच) एक असल करीबी लाने का काम किया है। 

वर्मा ने संवाददाताओं के एक समूह से कहा, मैं एक नई गति देख रहा हूं। मैं रक्षा और सुरक्षा साझेदारी में इसे देखता हूं। मैं स्वच्छ ऊर्जा और नवीकरणीय उर्जा में इसे देखता हूं। मैं हमारी अवसंरचना और स्मार्ट सिटी और स्वास्थ्य में इसे देखता हूं। उन्होंने कहा, यह महत्वपूर्ण है कि दोनों ही अब तक की गई प्रगति और इस संबंध को जहां तक वे ले जाना चाहते हैं, इसका आकलन करने के लिए एक साथ काम करें। 

हाल ही में संपन्न हुई रणनीतिक और व्यावसायिक वार्ता के बाद विदेश मंत्री जॉन केरी के बयान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि नए क्षेत्रों में भी सहयोग शुरू हो गया है। मैंने अंतरिक्ष में नई गति देखी है। केरी ने कहा था, मैं नहीं जानता कि क्या हम किसी अन्य देश के साथ इतना अधिक काम करते हैं। वर्मा ने कहा कि मोदी सरकार में कारोबार को आसान बनाने के लिए सच्ची प्रतिबद्धता है। हमने निवेश के चलन और द्विपक्षीय व्यापार के आंकड़ों का पता लगाने के लिए बीती गर्मियों में एक अध्ययन किया था। हम एक बेहद अच्छी दिशा में बढ़ रहे हैं।