चीन-रूस के लिए अमेरिका ने लॉन्च किया दुनिया का सबसे घातक परमाणु बमवर्षक विमान, ऐसे मचाएगा तबाही, जानें खासियत
topStories1hindi1467813

चीन-रूस के लिए अमेरिका ने लॉन्च किया दुनिया का सबसे घातक परमाणु बमवर्षक विमान, ऐसे मचाएगा तबाही, जानें खासियत

अमेरिका का एयरक्राफ्ट बी 21 रेडर, पहले से मौजूद बी 1 और बी 2 की जगह लेगा. ये अब तक का सबसे ताकतवर विमान है, जिसका इस्तेमाल दुश्मन के घर में घुसकर स्ट्राइक करने के लिए किया जा सकता है.

चीन-रूस के लिए अमेरिका ने लॉन्च किया दुनिया का सबसे घातक परमाणु बमवर्षक विमान, ऐसे मचाएगा तबाही, जानें खासियत

रूस और चीन के किसी भी हमले से निपटने के लिए अमेरिका ने एडवांस्ड बॉम्बर एयरक्राफ्ट बी 21 को तैयार कर लिया है. अमेरिका ने आज इस मिलिट्री एयरक्राफ्ट को लॉन्च कर दिया है. यह एयरक्राफ्ट इतना खतरनाक है कि एस 400 जैसा विमान भी इसका पता नहीं लगा पाएगा और ये दुश्मन के इलाके में घुसकर तबाही मचा देगा. अमेरिकी वायु सेना को मिले इस विमान को रेडर कहा जा रहा है. इसे नॉर्थरोप ग्रमम कंपनी ने तैयार किया है. इस एक एयरक्राफ्ट की कीमत 2 बिलियन डॉलर बताई जा रही है.

अमेरिकी वायु सेना के सेक्रेटरी ने कहा, 'हमें 21वीं सदी के लिए एक नए बमवर्षक की आवश्यकता थी जो हमें और अधिक जटिल खतरों से निपटने में मदद करे. संभावना है कि हम एक दिन चीन, रूस का सामना करेंगे और बी -21 वैसा ही विमान है जो अधिक कठिन खतरों का सामना कर सकता है.' इसमें ऐसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है जिसकी मदद से ये दुश्मन के राडार को खराब करने में सक्षम है.

लंबी दूरी तक मार करने में सक्षम

अमेरिका का एयरक्राफ्ट बी 21 रेडर, पहले से मौजूद बी 1 और बी 2 की जगह लेगा. ये अब तक का सबसे ताकतवर विमान है, जिसका इस्तेमाल दुश्मन के घर में घुसकर लंबी दूरी तक स्ट्राइक करने के लिए किया जा सकता है.

अमेरिकी युद्धक विमान बी-1 और बी-52 के मुकाबले बी-21 ज्यादा घातक और दुश्मन के खतरनाक इलाकों में दूर तक मार करते हुए सलामत रखने की क्षमता रखता है. बी 21 रेडर को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि ये आसानी से दुश्मन के राडार से बच निकलने में कामयाब रहेगा. इसके एयरफ्रेम बी-2 के मुकाबले छोटे हैं. 

दुश्मन की जानकारी जुटाने में माहिर

बी-21 संभावित दुश्मन या उसके इलाके के बारे में खुफिया जानकारी जुटाने और वहां स्ट्राइक करने की रणनीति में पूरी तरह फिट बैठता है. आसान शब्दों में कहें तो ये दुश्मन के एयरक्राफ्ट से, सैटेलाइट से, राडार से और अन्य उपकरणों से जानकारी जुटाने में माहिर है. साथ ही ये एक घातक युद्धक एयरक्राफ्ट भी है जो अपने रेंज में मौजूद दुश्मन को भनक लगे बगैर तबाह कर सकता है.

इसे लंबी दूरी तक हमला करने वाले मिशन के लिए तैयार किया गया है. ये एयरक्राफ्ट दुश्मन के बारे में खुफिया जानकारी इकट्ठा करने और उसे शेयर कर अपने हथियारों के बेड़े को हमले के लिए अलर्ट भी कर सकता है, जिसके बाद कुछ ही छणों में दुश्मन के बड़े इलाके को मिट्टी में मिलाने में सफलता मिल सकती है.

दुनिया का कोई भी राडार नहीं पकड़ सकता

अमेरिका के मुताबिक, उसके इस एयरक्राफ्ट को दुनिया का कोई भी राडार नहीं पकड़ सकता. इस एयरक्राफ्ट को पायलट के साथ और पायलट के बिना भी मिशन पर भेजा जा सकता है. ये ट्रेडिश्नल के साथ-साथ थर्मोन्यूक्लियर हथियार भी ले जाने में सक्षम है.

दावा ये भी है कि ये विमान एंटी-एक्सेस और एरिया डिनाइल सिस्टम को भी मात दे सकता है. ये स्टैंड-ऑफ और डायरेक्ट अटैक मूनिशन, दोनों तरीके से ओपरेट किया जा सकता है.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news