अमेरिका: समंदर की ओर बढ़ रहा है हवाई ज्वालामुखी में निकला लावा

18 मई को स्थिति में बदलाव हुआ और नया लावा मिल कर सड़क पर बहने लगा. इससे चार और मकान क्षतिग्रस्त हो गए.

अमेरिका: समंदर की ओर बढ़ रहा है हवाई ज्वालामुखी में निकला लावा
पहोवा के बाहरी क्षेत्र में पेड़ों के किनारे से बहता हुआ लावा. (Reuters/20 May, 2018)

पाहोआ: अमेरिका के सुदूर हवाई के निकट ज्वालामुखी से दो सप्ताह से लावा निकल रहा है और अब इसमें दशक पुराना मैग्मा मिल जाने से इसका रूप बदल गया है और भारी मात्रा में लावा सागर की ओर बढ़ रहा है. मैग्मा धरती के भीतर पाया जाता है. चट्टानों, वाष्पशील पदार्थों आदि से बना हुआ मैग्मा ज्वालामुखी के नीचे बने हुए मैग्मा कक्ष में पाया जाता है. जब इसका तापमान अधिक हो जाता है और ज्वालामुखी या आस पास की धरती पर अधिक दबाव बनाने लगता है , तो यह लावे के रूप में बाहर फूट पड़ता है. मैग्मा धरती के अलावा और भी कई ग्रहों पर पाया जाता है.

लावा निकलने की पहली घटना तीन मई को हुई और तेजी के साथ निकलता हुआ लावा जमीन में जम गया. इस लावे से 40 ढांचों को नुकसान पहुंचा और कम से कम 2000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ा.

शुक्रवार (18 मई) को स्थिति में बदलाव हुआ और नया लावा मिल कर सड़क पर बहने लगा. इससे चार और मकान क्षतिग्रस्त हो गए. अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण के ज्वालामुखीविद् वेंडी स्टोवाल ने कहा, ‘‘जमीन से और तरल पदार्थ निकल रहा है और इससे बहाव बढ़ेगा और आगे बढ़ेगा.’’