तनाव के बीच Joe Biden और Vladimir Putin की आज होने वाली मुलाकात पर दुनिया की नजर, कई मुद्दों पर होगी बात

व्‍लादिमीर पुतिन के धुर विरोधी कहे जाने वाले एलेक्‍सी नवलनी के साथ रूस में जो कुछ हुआ, उससे भी अमेरिका नाराज है और वह कई मौकों पर अपना गुस्सा भी जाहिर कर चुका है. लिहाजा, अब जब दोनों नेता आमने-सामने होंगे, तो यह मुद्दा उठाना लाजमी है. नवलनी को जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी.

तनाव के बीच Joe Biden और Vladimir Putin की आज होने वाली मुलाकात पर दुनिया की नजर, कई मुद्दों पर होगी बात
जो बाइडेन और व्‍लादिमीर पुतिन (फाइल फोटो)

जिनेवा: अमेरिका और रूस (America & Russia) के राष्ट्रपति आज यानी बुधवार को जिनेवा में मुलाकात करने वाले हैं. तनाव के बीच दुनिया के दो सबसे शक्तिशाली नेताओं की इस मुलाकात पर सबकी नजर है. रूस और अमेरिका के बीच पिछले काफी समय से अलग-अलग मुद्दों को लेकर विवाद चल रहा है, ऐसे में जो बाइडेन (Joe Biden) और व्‍लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के बीच आज होने वाली ये बैठक कई मायनों में खास है. मालूम हो कि दोनों के बीच 10 मार्च 2011 को मॉस्को में आखिरी मुलाकात हुई थी. उस वक्‍त बाइडेन अमेरिका के उपराष्‍ट्रपति थे और पुतिन रूस के प्रधानमंत्री. आज दोनों नेताओं के पद के साथ-साथ US और Russia के रिश्ते भी बदल चुके हैं.  

Cyber Attack पर होंगे सवाल

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और व्‍लादिमीर पुतिन (Joe Biden & Vladimir Putin) के बीच आज होने वाली बैठक में कई मुद्दों पर बातचीत हो सकती है. हालांकि, इस विषय में कोई बयान जारी नहीं किया गया है, लेकिन माना जा रह है कि बाइडेन साइबर अटैक और एलेक्‍सी नवलनी (Alexei Navalny) मामले पर पुतिन से सवाल कर सकते हैं. गौरतलब है कि रूस पर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने और अमेरिकी एजेंसियों एवं निजी कंपनियों पर साइबर अटैक करने के आरोप लगते रहे हैं.

ये भी पढ़ें -दुनिया की Tension बढ़ना तय: Israel ने तोड़ा संघर्ष विराम, Hamas पर Rocket दागकर बोला ‘यह जवाबी कार्रवाई’

Navalny पर Russia से नाराज है US

व्‍लादिमीर पुतिन के धुर विरोधी कहे जाने वाले एलेक्‍सी नवलनी के साथ रूस में जो कुछ हुआ, उससे भी अमेरिका नाराज है और वह कई मौकों पर अपना गुस्सा भी जाहिर कर चुका है. लिहाजा, अब जब दोनों नेता आमने-सामने होंगे, तो यह मुद्दा उठाना लाजमी है. नवलनी को जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी, उसके बाद से उन्हें कैद करके रखा गया है. नवलनी की गिरफ्तारी और उसके बाद हुए प्रदर्शनों को दबाने के लिए मॉस्को द्वारा किए गए बल प्रयोग को लेकर भी अमेरिका सहित कई देश पुतिन के खिलाफ हैं. यूएस कई बार रूस पर मानवाधिकार उल्‍लंघन का आरोप लगा चुका है.

S-400 पर भी हो सकती है बात

इसके अलावा, ब्रिटेन में पूर्व रूसी एजेंट और उनकी बेटी को मारने की कोशिश के लिए साजिश रचने का आरोप भी पुतिन पर लगा था. साथ ही दोनों देशों के बीच हथियार भी एक बड़ा मुद्दा है. हाल के कुछ समय में रूसी रक्षा प्रणाली S-400 इसकी एक बड़ी वजह बनी हुई है. अमेरिका नहीं चाहता है कि रूस की इस प्रणाली को कोई भी देश खरीदे, इसे लेकर रूस और अन्‍य देशों पर दबाव भी डाला जा रहा है. इसी तरह, सीरिया, यू्क्रेन और लीबिया में रूस की भूमिका से भी अमेरिका नाराज है. कहा जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच होने वाली मुलाकात में इन मुद्दों के साथ-साथ एक-दूसरे के कैदियों की रिहाई पर भी बात हो सकती है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.